Tuesday, November 30, 2021
अंतर्राष्ट्रीयताजा खबरराष्ट्रीयशाबाश इंडिया

19 पदक जीतकर इतिहास रचने वाले पैरालिंपियंस के सम्मान में पीएम मोदी ने आयोजित की पार्टी: गदगद नजर आए भारतीय खिलाड़ी

पढ़िये ऑपइंडिया की ये खास खबर….

टोक्यो पैरालिंपिक 2020 में पाँच स्वर्ण, आठ रजत और छह कांस्य पदक जीतकर इतिहास रचने वाले भारतीय पैरालिंपियंस से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (9 सितंबर 2021) को औपचारिक मुलाकात की। टोक्यो पैरालिंपिक 2020 से पहले भारत ने पिछले सभी पैरालिंपिक में संयुक्त रूप से 12 पदक (प्रत्येक रंग के 4 पदक) जीते थे।

प्रधानमंत्री द्वारा आयोजित पार्टी ठीक वैसी ही थी जैसा कि उन्होंने भारतीय ओलंपिक टीम के एथिलीटों के सम्मान में बीते 16 अगस्त को अपने आधिकारिक आवास 7 लोक कल्याण मार्ग पर आयोजित थी।

पैरालंपियन के सम्मान में आयोजित इस यादगार आयोजन की तस्वीरें पीएम नरेंद्र मोदी की आधिकारिक वेबसाइट पर भी साझा की गई। एक तस्वीर में प्राइम मिनिस्टर पैरा-बैडमिंटन खिलाड़ी रजत पदक विजेता और आईएएस अधिकारी सुहास एलवाई की पीठ थपथपाकर उनका उत्साहवर्धन करते नजर आए।

“मेडल पे चर्चा विद कृष्णा नागर” शीर्षक वाली एक अन्य तस्वीर में पीएम मोदी को कृष्णा नागर सहित पैरालंपिक प्रतिभागियों के एक समूह के साथ बातचीत करते हुए देखा गया, जिन्होंने टोक्यो पैरालिंपिक 2020 में पुरुष एकल SH6 बैडमिंटन में स्वर्ण पदक जीता था।

हाल ही में टोक्य़ो पैरालंपिक 2021 के लिए क्वालिफाई करने वाली जालंधर की पैरा-शटलर स्टार पलक कोहली की प्रेरणादायक यात्रा को पीएम मोदी को उत्सुकता से सुनते देखा गया। पलक ने पैरालिंपिक 2021 के लिए क्वालीफाई करने वाली दुनिया की सबसे कम उम्र की पैरा-बैडमिंटन खिलाड़ी बनकर इतिहास रच दिया है।

कार्यक्रम की कई अन्य तस्वीरें नरेंद्र मोदी की आधिकारिक वेबसाइट पर साझा की गईं।

इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने टोक्यो पैरालंपिक 2020 के प्रतिभागियों के ऑटोग्राफ वाले स्टॉल को भी स्वीकार किया। पैरालिंपियनों द्वारा प्रधानमंत्री को स्टॉल प्रदान करने की तस्वीर को भी वेबसाइट पर शेयर किया गया है। इसका शीर्षक था, “ऑटोग्राफ्ड स्टॉल फ्रॉम विनर्स टू द लीडर हू इंस्पायर देम।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पैरालंपियनों की मेजबानी किए जाने को लेकर केंद्रीय युवा मामलों और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि खेलों में समावेशी भागीदारी के लिए पीएम मोदी का हमेशा एक ‘दृष्टिकोण’ रहा है, इसलिए उनकी योजना में विशेष रूप से दिव्यांग एथलीटों के लिए अधिक अवसर पैदा करना शामिल रहा था।

टोक्यो पैरालिंपिक 2020 में दमदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय पैरा-एथलीटों ने मोदी सरकार से मिले समर्थन को लेकर उसका धन्यवाद किया। टाइम्स नाउ ने 2020 पैरालिंपिक में चार पदक विजेताओं से बात की। टोक्यो खेलों में हाई जंप टी 63 स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने वाले शरद कुमार ने खुलासा किया कि अन्य देशों के एथलीटों ने भी पैरा-एथलीटों को सहायता प्रदान करने के भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने जो सम्मान और प्रयास किया है, वह एथलीटों के लिए किसी भी पदक से कहीं ज्यादा बड़ा है।

शरद ने भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की, क्योंकि सरकार सभी एथलीटों को समान स्तर पर लाने की कोशिश कर रही है। सरकार देख रही है कि एथलीटों को सुविधाओं या उपकरणों के मामले में क्या चाहिए और उसी के अनुसार उन्हें अनुमति दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार की प्रेरणा से एथलीटों को पेशेवर रूप से चीजों को देखने में मदद मिलती है, जिससे पैरा-स्पोर्ट्स में बहुत बड़ा बदलाव आया है।

मेडल की संख्या

टोक्यो पैरालिंपिक में भारत ने इस साल 19 पदक जीते हैं, जो खेलों के एकल संस्करण में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। भारत ने पाँच स्वर्ण, आठ रजत और छह कांस्य पदक जीते हैं। इसी के साथ देश खेलों के मामले में 24वें स्थान पर रहा। पिछले खेलों में भारत केवल 19 एथलीटों को भेजने में सक्षम था, जिन्होंने चार पदक जीते थे। लेकिन इस बार, भारत ने पैरा-एथलीटों की 54 खिलाड़ियों की मजबूत टीम भेजी, जो उम्मीदों पर खरी उतरी और पहले से कहीं ज़्यादा पदक जीते।

साभार-ऑपइंडिया

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!