Sunday, November 28, 2021
एनसीआरख़बरें राज्यों सेताजा खबरनागरिक मुद्देमेरठ समाचारमेरा गाज़ियाबादसंवरता गाज़ियाबाद

Delhi Meerut Expressway News: हादसों पर लगेगी लगाम! दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के किनारे सभी होर्डिंग्स हटेंगे

पढ़िये नवभारत टाइम्स की ये खास खबर….

एक्सप्रेसवे पर एक्सीडेंट को रोकने के लिए मेरठ जिला प्रशासन ने यह कदम उठाया है। एक सप्ताह के भीतर यूनीपोल और होर्डिंग्स को हटाने के साथ ही इसकी रिपोर्ट बनाकर मंडलायुक्त को देनी होगी।

गाजियाबाद/मेरठ नोएडा के रहने वाले शिवम दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पकड़कर हर रोज मेरठ आते-जाते हैं। एक्सप्रेसवे के किनारे लगे होर्डिंग्स को पढ़ने के चक्कर में कई बार गाड़ी चलाते समय उनका ध्यान भंग होता है। एक-दो बार दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बचे हैं। ऐसा केवल शिवम के साथ नहीं होता है बल्कि एक्सप्रेसवे पर चलने वाले अधिकांश वाहन चालक के साथ यह दिक्कत आती है।

अब एक्सप्रेसवे पर एक्सीडेंट को रोकने के लिए मेरठ मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह ने यूनीपोल और होर्डिंग्स हटाने के लिए गाजियाबाद और मेरठ जिले के अधिकारियों की अलग-अलग टीम तैयार की है। यह टीम ग्रामीण एरिया और शहरी एरिया में डीएमई और एनएच-9 के किनारे लगे हुए होर्डिंग्स और यूनीपोल को हटाने का काम करेगी।

एक सप्ताह के भीतर यूनीपोल और होर्डिंग्स को हटाने के साथ ही इसकी रिपोर्ट बनाकर मंडलायुक्त को देनी होगी। मालूम हो कि इस संबंध में एनएचएआई की तरफ से कई बार गाजियाबाद और मेरठ जिले के डीएम को पत्र लिखा गया है, लेकिन कार्रवाई नहीं होने पर मामला मंडलायुक्त तक पहुंचा। जिसके बाद टीम बनाकर कार्रवाई किए जाने की हिदायत दी गई है।

ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में यह होगी टीम
ग्रामीण एरिया में होर्डिंग्स हटाने की टीम में उस एरिया के एसडीएम, सीओ और एनएचएआई प्रतिनिधि भी होंगे। जबकि शहरी एरिया में संबंधित एरिया का अपर नगर मैजिस्ट्रेट, सीओ और एनएचएआई प्रतिनिधि होंगे।

इस एरिया में लगे हुए हैं होर्डिंग्स
एनएचएआई के अधिकारियों ने बताया कि खोड़ा के पास दीवारों के ऊपर, नोएडा के चौराहे पर, शिप्रा मॉल के आसपास, आवास विकास की सिद्धार्थ विहार योजना, मसूरी के पास, डासना, पिलखुवा के मकानों पर होर्डिंग्स लगे हैं। डासना से मेरठ जाते हुए एक्सप्रेसवे के दोनों तरफ होर्डिंग्स लगा दिए गए हैं। डासना, दुहाई और ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे के गोलचक्कर पर भी यूनीपोल और होर्डिंग्स लगा दिए गए हैं।

यह है नियम
डीएमई के प्रॉजेक्ट डायरेक्टर मुदित गर्ग बताते हैं कि एक्सप्रेसवे और हाइवे के किनारे पर किसी भी हाल में होर्डिंग्स और यूनीपोल नहीं लगाया जा सकता है, जो भी लगे हैं वह पूरी तरह अवैध है। वाहन चालक इस पर 100 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से चलता है। विज्ञापन को पढ़ने में पांच से दस सेकेंड का समय लगता है। इतना समय उसका ध्यान भंग हो जाता है। जिसकी वजह से आगे चलती गाड़ी से टकराने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

मंडलायुक्त मेरठ सुरेंद्र सिंह का कहना है कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे और एनएच-9 के दोनों किनारे से होर्डिंग्स और यूनीपोल को एक सप्ताह के भीतर हटाए जाने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के लिए अलग-अलग टीम भी तैयार की गई है। साभार-नवभारत टाइम्स

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!