‘आतंकवादियों और अपराधियों को मंच न दें’, केंद्र सरकार की टीवी चैनलों को सलाह

File Photo

नई दिल्ली। सूचना प्रसारण मंत्रालय ने गुरुवार को टीवी समाचार चैनलों के लिए सलाह जारी की है। इसमे कहा है कि वे प्रतिबंधित संगठनों से जुड़े लोगों या आतंकवाद और गंभीर अपराधों के आरोपों का सामना करने वालों को मंच देने से बचें।

केंद्रीय मंत्रालय ने कहा कि हाल ही में ऐसे व्यक्ति को एक चैनल पर चर्चा के लिए आमंत्रित किया गया था, जिस पर आतंकवाद समेत अपराध के गंभीर मामले दर्ज हैं। वह उस संगठन से संबंधित है, जिस पर भारत में पूरी तरह से पाबंदी है। चर्चा के दौरान उस व्यक्ति ने कई ऐसी टिप्पणियां की, जो देश की संप्रभुता, अखंडता, भारत की सुरक्षा, एक विदेशी राज्य के साथ भारत के मैत्रीपूर्ण संबंधों के लिए हानिकारक थी।

इससे देश का सांप्रदायिक तानाबाना और सौहार्द बिगड़ने की भी आशंका थी। मंत्रालय ने स्पष्ट रूप से कहा कि चैनलों को प्रसारित सामग्री को लेकर केबल टेलीविजन नेटवर्क (विनियमन) अधिनियम, 1995 के प्रावधानों का पालन करना होगा।

भारतीय दूतावास पर हमले के 10 आतंकियों की तस्वीरें जारी
इस बीच, खालिस्तान समर्थकों पर शिकंजा कसते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इसी साल मार्च में अमेरिका के सान फ्रांसिस्को में भारतीय दूतावास पर हुए हमले के 10 संदिग्ध आरोपियों की तस्वीरें जारी की है। साथ ही इनसे जुड़ी कोई भी जानकारी जांच एजेंसी को मुहैया कराने की अपील की है। हमले के पीछे खालिस्तान समर्थकों का हाथ माना जा रहा है।

Exit mobile version