शाह फैसल के बाद शेहला राशिद के भी बदले सुर, JNU की पूर्व छात्र नेता ने की मोदी सरकार की तारीफ

श्रीनगर। कभी मोदी सरकार की प्रखर आलोचक रहीं जेएनयू की पूर्व छात्र नेता शेहला रशीद अचानक तारीफ में कसदी पढ़ने लगी। शेहला का कहना है कि मोदी सरकार के नेतृत्व में कश्मीर के हालात सुधरे हैं और लोगों की जिंदगियां बच रही हैं।

रईस मट्टू का वीडियो शेयर करते हुए शेहला रशीद शोरा ने लिखा, “इसे स्वीकार करना भले ही असुविधाजनक लग रहा हो, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार और एलजी प्रशासन के तहत कश्मीर में मानवाधिकार रिकॉर्ड में सुधार हुआ है। मेरा मानना है कि सरकार के स्पष्ट रुख ने कुल मिलाकर जीवन बचाने में मदद की है। यह मेरा दृष्टिकोण है।” अपने एक अन्य ट्वीट में शेहला ने पीएम मोदी के लाल किले से दिए गए भाषण का जिक्र किया। उन्होंने लिखा, “जैसा कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कहा, भारत वास्तव में ऊर्जा परिवर्तन में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। इस तथ्य को देखते हुए कि भारत ऐतिहासिक रूप से प्रदूषण फैलाने वालों में नहीं रहा है, इस लिहाज से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सक्रिय दृष्टिकोण सराहनीय है।”

वहीं आईएएस शाह फैसल ने ट्वीट कर लिखा, “आज कश्मीर में कुछ अभूतपूर्व हो रहा है। मैंने अब तक अपने जीवन में ऐसी कोई चीज़ नहीं देखी है और हममें से किसी ने भी नहीं देखी है। लोग 15 अगस्त को उस उत्साह के साथ मना रहे हैं जो पहले केवल ईद जैसे प्रमुख त्योहारों पर देखा जाता था। कश्मीर ने गर्व और खुशी के साथ भारत को गले लगा लिया है।”

कभी मोदी सरकार पर हमला बोलती थीं शेहला
शेहला राशिद जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) की उपाध्यक्ष रह चुकी हैं और अखिल भारतीय छात्र संघ (आईसा) की सदस्य भी रह चुकी हैं। भारतीय सेना पर अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में उनपर केस भी दर्ज हो चुका है। शेहला रशीद ने मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर पीएम को पत्र लिखने वाली कुछ जानी-मानी हस्तियों के खिलाफ एफआईआर के बाद अक्टूबर 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला था। रशीद ने कहा था कि देश में ऐसा कोई कानून नहीं है जो कहता हो कि प्रधानमंत्री का सम्मान करना आवश्यक है। उन्होंने लिखा, “संविधान का कोई अनुच्छेद, आईपीसी में कोई खंड, कोई राज्य कानून या संसद का कोई अधिनियम नहीं है जिसके लिए भारत के नागरिक को प्रधानमंत्री का सम्मान करने की आवश्यकता हो!”

इससे पहले 2018 में भी शेहला ने अपने एक बयान से हंगामा खड़ा कर दिया था। शेहला रशीद ने एक ट्वीट में कहा था कि ऐसा लगता है जैसे आरएसएस और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की योजना बना रहे। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “ऐसा लगता है कि आरएसएस/गडकरी मोदी की हत्या करने की योजना बना रहे हैं, और फिर इसका दोष मुसलमानों/कम्युनिस्टों पर मढ़ देंगे और फिर मुसलमानों को मार डालेंगे #राजीवगांधी स्टाइल में।”

Exit mobile version