भारत में मिला गोल्ड मेडल भी इमरान खान ने बेच लिया: पाकिस्तान के रक्षा मंत्री का दावा

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने दावा किया है कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को क्रिकेट खेलते हुए भरत में जो गोल्ड मेडल मिले थे, उसे भी उन्होंने बेच दिया है। क्रिकेटर से नेता बने इमरान इन दिनों उपहार बेचने के लिए चर्चा में हैं। उन्होंने एक महंगी ग्रेफ कलाई घड़ी भी लाभ के लिए बेच दी थी, जो उन्हें प्रधानमंत्री रहते हुए उपहार में मिली थी।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल-एन) के वरिष्ठ नेता ने सोमवार को एक टेलीविजन कार्यक्रम के दौरान रक्षा मंत्री आसिफ ने कहा कि इमरान खान ने उस स्वर्ण पदक को भी बेच दिया था जो उन्हें भारत से मिला था। इस बीच एक सिक्का संग्रहकर्ता ने मंगलवार को दावा किया कि उसने भारत द्वारा इमरान खान को दिया गया मेडल लाहौर के एक निजी सिक्का विक्रेता से 3,000 रुपये से कम में खरीदा था। लाहौर के पास कसूर के रहने वाले शकील अहमद खान ने जियो न्यू टेलीविजन चैनल के एक टॉक शो के दौरान यह दावा किया।

शकील ने कहा कि मेडल की हालत खराब थी, लेकिन उसे अच्छी तरह से साफ करने के बाद पता चला कि यह एक स्पेशल मेडल है। उन्होंने दावा किया, “जांच से पता चला कि यह 1987 में मुंबई में इमरान खान को क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया द्वारा दिया गया पदक था।” उन्होंने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को मुफ्त में पदक दान कर दिया। पीसीबी ने दान स्वीकार किया और शकील को एक एक प्रमाण पत्र भी दिया।

इमरान ने बेचे चार उपहार
आठ सितंबर को खान ने एक लिखित उत्तर में स्वीकार किया कि उन्होंने प्रधानमंत्री के कार्यकाल के दौरान प्राप्त कम से कम चार उपहार बेचे थे। इस बीच, नेशनल असेंबली के एक सत्र को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने खान पर कटाक्ष किया और कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ‘‘सत्ता के लिए पागल हो गए हैं।’’ उन्होंने कहा कि खान को उन संस्थानों को निशाना नहीं बनाना चाहिए जिन्होंने पिछले चार वर्षों के दौरान ‘‘बिना शर्त उनका समर्थन किया।’’

Exit mobile version