अंतर्राष्ट्रीय

आग बुझाने पहुंचा दमकलकर्मी के उड़े होश, रिश्तेदार के घर में उसके 2 बच्चों समेत 10 लोग जलकर खाक

पेनसिल्वेनिया। अमेरिका के पेनसिल्वेनिया राज्य में एक मकान में आग लगने से तीन बच्चों समेत 10 लोगों की मौत हो गई है। आग बुझाने के लिए आया दमकलकर्मी उस समय हक्का बक्का रह गया जब उसे मालूम चला कि आग उसके रिश्तेदार के घर में लगी है और मृतकों में उसका बेटा, बेटी, ससुर, पत्नी का भाई व अन्य रिश्तेदार शामिल हैं। पेनसिलवेनिया पुलिस ने बताया कि हादसे में मारे गए तीन बच्चों की उम्र क्रमश: पांच, छह और सात साल है।

नेस्कोपेक वालंटियर फायर कंपनी के दमकलकर्मी हेरोल्ड बेकर ने फोन पर बताया कि 10 मृतकों में उसका बेटा, बेटी, ससुर, पत्नी का भाई, बहन व पांच अन्य रिश्तेदार शामिल हैं। बेकर ने बताया कि शुरुआत में उन्हें जो पता दिया गया था, वह पड़ोस के एक घर का था लेकिन घटनास्थल पर पहुंचने के बाद उसे मालूम चला कि यह उसके रिश्तेदार का घर है। उसने बताया कि दो मंजिला मकान में 13 कुत्ते भी रहते थे लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि उनमें से कोई जीवित बचा या नहीं।

रात ढाई बजे मकान में लगी आग
नेस्कोपेक के इस मकान में शुक्रवार देर रात ढाई बजे के बाद आग लगी। आपातकर्ताओं के पहुंचने के तुरंत बाद एक व्यक्ति घर के अंदर मृत मिला। सुबह दो अन्य लोगों के शव मिले। राज्य की पुलिस और आपराधिक जांचकर्ता इस मामले की जांच कर रहे हैं। अधिकारियों ने बताया कि कुछ लोग जलते हुए मकान में से बाहर निकलने में सफल रहे।

दमकल कंपनी की सचिव हेदी नोर ने बताया कि मृतकों में से एक 19-वर्षीय डेल बेकर दमकलकर्मी था, जो 16 साल की उम्र में कंपनी में शामिल हुआ था। उन्होंने बताया कि डेल बेकर के दोनों माता-पिता दमकल सेवा के सदस्य थे और यह परिवार जरूरतमंदों की मदद करने में हमेशा आगे रहता था।

घर में रह रहे थे 14 लोग
हादसे में बेकर के परिजनों की मौत के कारण उन्हें छुट्टी दे दी गई। बेकर ने बताया कि इस घर में 14 लोग रह रहे थे। उनमें से एक अखबार बांटने के लिए घर से बाहर था और तीन अन्य बच गए। बेकर ने बताया कि वहां बच्चे थे और मेरे दो बच्चे अपने नाना और नानी से मिलने गए थे। पेनसिलवेनिया पुलिस के अधिकारी लेफ्टिनेंट डेरेक फेल्समैन ने बताया, ‘एक जटिल आपराधिक जांच चल रही है। जीवित बचे लोगों से पूछताछ की जा रही है।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.