मेरा गाज़ियाबाद

गाजियाबाद: 8 महीने पहले हुआ था मासूम आतिका का अपहरण, अब पुलिस ने जारी किया संदिग्ध व्यक्ति का स्केच

गाजियाबाद। विजयनगर थाना क्षेत्र से पिछले साल 1 नवम्बर की शाम घर के बाहर खेलते हुए अपह्त आतिका का 8 महीने बाद भी नही मिली है। पुलिस को इस मामले में अब एक चश्मदीद व्यक्ति मिला है। दावा है कि उसने बच्ची ले जाते हुए एक संदिग्ध को देखा था। पुलिस ने इस संदिग्ध आरोपी का स्कैच बनवाकर जारी कर दिया है।

विजयनगर थाना क्षेत्र के अकबरपुर बहरामपुर निवासी मोहम्मद आबिद मलिक की कपड़े की दुकान है। उनकी चार वर्षीय बेटी आतिका एक नवंबर 2021 की देर शाम घर के बाहर खेल रही थी। इस दौरान वह संदिग्ध परिस्थिति में गायब हो गई। बच्ची की तलाश में परिजनों ने दो दिन बाद पडोस की एक गली में सीसीटीवी फुटेज खंगाली तो बाइक सवार दो व्यक्ति बच्ची को उठाकर ले जाते हुए नजर आए। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है कि बाइक सवार दोनों व्यक्तियों ने बच्ची को अपने बीच में बैठा रखा है। हालाँकि अंधेरा होने की वजह से न तो बाइक का नंबर साफ तौर पर दिख रहा है और न ही आरोपियों के चेहरे।

पीड़ित परिवार ने बताया कि इस मामले में थाना विजयनगर में अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। लेकिन आतिका के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई इसलिए आबिद खान ने बेटी के बारे में जानकारी देने वाले 5 पांच लाख रुपए बतौर इनाम देने का एलान किया। बच्ची के पिता आबिद ने बताया कि उनकी किसी से कोई रंजिश भी नहीं है। ऐसे में बच्ची का अपहरण क्यों किया गया, वो आज कहाँ है, कैसी है उसका कुछ पता नहीं है।

आतिका के अपहरण को 8 महीने बीत चुके हैं। इस घटना के आठ महीने बाद एक चश्मदीद व्यक्ति सामने आया है। उसका कहना है कि उसने एक नवंबर 2021 को एक संदिग्ध व्यक्ति को बच्ची को ले जाते हुए देखा था। वह बच्ची रो रही थी। पुलिस ने इस चश्मदीद के बताए गए हुलिया के आधार पर संदिग्ध व्यक्ति का स्केच बनवा लिया है। पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर स्केच जारी कर दिया है। वहीं आसपास के सभी जिलों और थानों में यह स्केच भेज दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.