ख़बरें राज्यों से

कश्मीरी पंडितों को न्याय नहीं दिलाएंगे हनुमान चालीसा-लाउडस्पीकर: शिवसेना

मुंबई। जम्मू कश्मीर के बडगाम में राजस्व विभाग के कर्मचारी और कश्मीरी पंडित राहुल भट की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। घटना के बाद शिवसेना ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि हनुमान चालीसा का पाठ करने या लाउडस्पीकर बंद करने से कश्मीरी पंडितों की समस्याएं हल नहीं होंगी और केंद्र सरकार को केंद्र शासित प्रदेश में “अस्थिरता के माहौल” को समाप्त करने के लिए कड़े फैसले लेने चाहिए।

शुक्रवार को पत्रकारों से बात करते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, “पाकिस्तान पर बार-बार उंगली मत उठाओ, हम कश्मीरी पंडितों के लिए क्या कर रहे हैं? अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद भी, वे सुरक्षित नहीं हैं और घर वापस नहीं लौट पा रहे हैं।” अब आम लोग सुरक्षित नहीं हैं, यह अब पंडितों तक सीमित नहीं रह गया है।’

शिवसेना नेता ने कहा, “कश्मीर में जो अस्थिरता का माहौल बना है, उसे एक बार फिर कड़े फैसले लेकर खत्म करना होगा। हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर जैसे मुद्दे न तो कश्मीरी पंडितों और न ही कश्मीर के मुद्दे को हल करेंगे।” राउत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह को “कश्मीरी पंडितों के मुद्दे पर भावुक” बताते हुए कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री को उनकी हत्याओं के बारे में “बहुत गंभीरता से” सोचने की जरूरत है।

राउत ने कहा, “कश्मीरी पंडित एक सरकारी कर्मचारी था। यह बार-बार हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह कश्मीरी पंडितों को लेकर बहुत भावुक हैं। घाटी में उनकी वापसी के बारे में बातें हुईं। पता नहीं उनमें से कितने हैं जो लौट आए। लेकिन जो पहले से थे उन्हें जीने नहीं दिया जा रहा है और उन्हें मारा जा रहा है। गृह मंत्री को इस पर बहुत गंभीरता से सोचने की जरूरत है। युवा कश्मीरी पंडित की हत्या दर्दनाक है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.