अंतर्राष्ट्रीय

ट्विटर को मिला नया मालिक, क्या ट्रम्प की होगी वापसी?

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क और ट्विटर इंक के बीच 44 अरब अमेरिकी डॉलर में डील फाइनल हो गयी है, अब एलन ट्विटर के नए मालिक बन गए हैं। इसके बाद से ही अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ट्विटर पर वापसी कर सकते हैं। हालाँकि ट्रम्प ने साफ कर दिया है कि वे ट्विटर पर वापस नहीं आ रहे हैं। अमेरिका में कैपिटल हिल हिंसा के समय ट्विटर ने उनका अकाउंट बंद कर दिया था।

फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में ट्रम्प ने कहा- मैं अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Truth Social पर ही रहूंगा। टेस्ला के CEO की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि एलन मस्क अच्छे आदमी हैं, मुझे उम्मीद है कि वे ट्विटर में सुधार करेंगे। हालांकि, मैं Truth पर ही रहूंगा। वहीं ट्विटर इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पराग अग्रवाल ने सोमवार को कंपनी के कर्मचारियों के साथ टाउन हॉल मीटिंग की थी। इस दौरान उन्होंने कर्मचारियों के कई सवालों के जवाब दिए।

एक कर्मचारी ने उनसे पूछा कि क्या पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति की भी अब ट्विटर पर वापसी होगी, जिन्हें पिछले साल हमेशा के लिए बैन कर दिया गया था। पराग अग्रवाल ने जवाब देते हुए कहा, “एक बार डील क्लोज हो जाने के बाद, हम नहीं जानते कि प्लेटफॉर्म किस दिशा में जाएगा। मेरा मानना ​​है कि जब हमारे पास एलन के साथ बात करने का अवसर होगा, तो यह एक ऐसा सवाल है जिसे हमें उसके साथ जरूर उठाएंगे।”

दरअसल यह सवाल इसलिए भी उठ रहा है क्योंकि ट्विटर ने जब पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को प्लेटफॉर्म से बैन किया था तब उस समय मस्क ने कहा था कि वह इस प्लेटफॉर्म को सुधारना चाहते हैं। एलन मस्क खुद को “फ्री स्पीच का बड़ा पक्षधर बताते हैं।”
मस्क ने भी पहले कहा था कि वह ट्विटर को इसलिए खरीदना चाहते है, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि यह स्वतंत्र अभिव्यक्ति के मंच के रूप में अपनी क्षमता पर खरा उतर पा रहा है।

बता दें मस्क ने इस माइक्रो ब्लॉगिंग साइट को खरीदने के लिए 44 बिलियन डॉलर, यानी 3,368 अरब रुपए की डील की हैं। ट्विटर के इंडिपेंडेंट बोर्ड के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने भारतीय समय के मुताबिक रात 12 बजकर 24 मिनट पर एक प्रेस रिलीज में मस्क के साथ हुई डील के बारे में जानकारी दी। मस्क को ट्विटर के हर शेयर के लिए 54.20 डॉलर (4,148 रुपए) चुकाने होंगे। उनके पास पहले से ही ट्विटर में 9% की हिस्सेदारी मौजूद है। वे ट्विटर के सबसे बड़े शेयर होल्डर हैं। ताजा डील के बाद उनके पास कंपनी की 100% हिस्सेदारी होगी और ट्विटर उनकी प्राइवेट कंपनी बन जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.