ख़बरें राज्यों से

असम: जिग्नेश मेवाणी को एक दिन की न्यायिक हिरासत, आज होगी जमानत अर्जी पर सुनवाई

कोकराझार। असम की एक अदालत ने गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी को रविवार को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। असम पुलिस ने प्रधानमंत्री के खिलाफ ट्वीट करने के मामले में मेवानी को बुधवार को गुजरात से गिरफ्तार किया था। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जमानत याचिका सहित मेवानी के मामले में सुनवाई सोमवार को होगी।

कोकराझार के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरजीत सिंह पानेसर ने पत्रकारों को बताया कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने मेवानी को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। मेवानी की तीन दिन की पुलिस हिरासत खत्म होने के बाद रविवार देर शाम उन्हें अदालत में पेश किया गया। पानेसर ने बताया कि मेवानी को सोमवार को उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा, जहां जमानत याचिका सहित उनके मामले पर सुनवाई होगी।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक मेवानी को बुधवार की रात गुजरात के पालनपुर शहर से गिरफ्तार किया गया था। जिग्नेश मेवाणी को असम पुलिस ने पालनपुर सर्किट हाउस से बुधवार रात करीब 11:30 बजे गिरफ्तार कर लिया था। जहां से उन्हें असम ले जाया गया। पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ ट्ववीट में आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर मेवाणी के खिलाफ असम पुलिस ने केस दर्ज किया था।

जिग्नेश मेवानी को उनके एक ट्वीट के चलते गिरफ्तार किया गया था जिसमें उन्होंने लिखा था, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो गोडसे को भगवान मानते हैं, वह गुजरात में हुई सांप्रदायिक झड़पों के लिए शांति और सद्भाव की अपील करें”। भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत प्रधानमंत्री के खिलाफ उनके कथित ट्वीट को लेकर असम के कोकराझार थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.