ख़बरें राज्यों से

आजम खां को ओवैसी का पत्र, कहा- मुसलमानों की हमदर्द नहीं है सपा, हमारे साथ आएं

लखनऊ। जेल में बंद सपा नेता आजम खां के करीबियों के द्वारा सपा मुखिया अखिलेश यादव पर सपा निशाना साधने के बाद अब असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने आजम खां को अपने पालने में लाने के लिए कवायद शुरू कर दी है। पार्टी ने आजम खां को एआईएमआईएम में शामिल होने का न्योता दिया है।

आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रवक्ता मोहम्मद फरहान ने आजम खान को सीतापुर जेल में पत्र लिखकर भेजा है और कहा है कि अखिलेश यादव मुसलमानों के हितैषी नहीं हैं। इसलिए आप हमारे साथ आइए। चिट्ठी में लिखा गया है कि अखिलेश को मुसलमानों से कतई हमदर्दी नहीं है। पिछले तीन वर्षों में न ही अखिलेश यादव और न ही उनके सलाहकारों ने आजम खान को जेल से छुड़वाने के लिए कोई ठोस कदम उठाया है। फरहान बीते विधानसभा चुनाव में इलाहाबाद शहर दक्षिणी से एआइएमआइएम प्रत्याशी भी रहे थे।

तीन पन्ने की इस चिट्ठी में लिखा गया है कि असदुद्दीन ओवैसी के साथ मिलकर आजम खां मुसलमानों को सियासी पहचान दिलाएं। आजम खान से जेल में मुलाकात का समय भी मांगा गया। आजम की सहमति मिलने के बाद एआईएमआईएम के नेता जेल में मिलने जाएंगे। जेल में आजम खान को पार्टी में शामिल होने का औपचारिक न्योता दिया जा सकता है।

प्रवक्ता मोहम्मद फरहान ने यह भी लिखा कि आपका केवल इस्तेमाल किया गया। भाजपा के नजर में आपको दुश्मन बना दिया, ताकि अगर कल को आपको या आपके परिवार के लोगों को सजा हो या आपकी जेल में हत्या कर दी जाए तो वे मुस्लिम समाज को यह बता कर उनसे वोट ले सकें की आजम खान को भाजपा सरकार ने खत्म कर दिया। इसीलिए इन्होंने आपको जेल में मरने के लिए छोड़ दिया और पलट कर भी नहीं देखा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.