ख़बरें राज्यों से

कई सालों से एक जिले में तैनात क्लर्कों पर यूपी सरकार की टेढ़ी नजर, तबादले के लिए हो जाएं तैयार

लखनऊ। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत वह लिपिक जो एक जिले में सात साल से अधिक समय से तैनात हैं, उनका तबादला किया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग के निदेशक (प्रशासन) डा.राजागणपति आर की ओर से सोमवार को सभी मंडलीय अपर निदेशक, अस्पतालों के निदेशक व मुख्य चिकित्सा अधिक्षकों को निर्देश जारी किए गए हैं कि ऐसे लिपिकों को चिन्हित करें और उनका ब्योरा विभाग को तीन दिन में भेजें। वर्ष 2022-23 में स्थानांतरण किए जाने की तैयारियां तेज कर दी गई हैं।

स्थानांतरण नीति के अनुसार कार्यालय में एक पटल पर तीन साल, एक कार्यालय में पांच वर्ष और मंडल में 10 साल से अधिक लिपिक तैनात नहीं रह सकता। वहीं मान्यता प्राप्त सेवा संघों के प्रदेश के साथ-साथ जिलों के अध्यक्ष व सचिव का स्थानांतरण उनके द्वारा संगठन में पद पर नियुक्त होने के दो वर्ष तक नहीं किया जाएगा। इसके बाद इनका भी स्थानांतरण होगा। तीन दिन के अंदर सभी क्लर्कों की तैनाती से संबंधित रिपोर्ट विभाग को भेजनी होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.