राष्ट्रीय

जल्द मिलेगी कोरोना कॉलर ट्यून से आजादी, दूरसंचार विभाग ने स्वास्थ्य मंत्रालय से की गुजारिश

नई दिल्ली। यदि आप भी कोरोना के कॉलर ट्यून से परेशान हो गए हैं तो आपके लिए खुशखबरी है, क्योंकि आपको जल्द ही इस कॉलर ट्यून से आजादी मिलने वाली है। कोरोना कॉलर ट्यून को बंद करने के लिए दूरसंचार विभाग ने स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखा है।

कोरोनो कॉलर ट्यून पिछले दो साल से चल रही है। जब भी आप किसी को फोन करते हैं तो पहले कोरोना ट्यून को ही सुनना पड़ता है। इस कोरोना कॉलर ट्यून को लेकर लोगों ने कई बार शिकायत की है कि यह काफी परेशान करने वाला है। कोरोना कॉलर ट्यून को महामारी के खिलाफ जागरूकता फैलान के लिए शुरू किया गया है। बता दें कि शुरुआत में कोरोना को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए कॉलर ट्यून का इस्तेमाल हुआ और अब वैक्सीनेशन को लेकर कॉलर ट्यून के जरिए जागरूकता फैलाया जा रहा है।

इमरजेंसी कॉल में होती है देरी
कई बार जरूरी या इमरजेंसी कॉल के दौरान इस कॉलर ट्यून के चलते कॉल कनेक्ट होने में देरी होती है जिससे लोगों को काफी परेशानी होती है, हालांकि कोरोना कॉलर ट्यून शुरू होने के साथ ही 1 दबा देने से कई बार यह ट्यून बंद हो जाती है। अब दूरसंचार विभाग ने स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ-साथ सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (COAI) से भी इस कॉलर ट्यून को हटाने का अनुरोध किया है। रिपोर्ट के मुताबिक विभाग के अनुरोध के बाद स्वास्थ्य मंत्रायल कॉलर ट्यून को हटाने पर विचार कर रहा है।

दूरसंचार विभाग ने स्वास्थ्य मंत्रालय को लिखे अपने पत्र में कहा है कि प्री-कॉलर कॉलर ट्यून को जारी रखना मतलब ऐसे महत्वपूर्ण कॉलों को रोकना और देरी करना है जो आपात स्थिति के लिए किए जा रहे हैं। इस वजह से दूरसंचार सेवा प्रदाताओं (टीएसपी) मोबाइल नेटवर्क कॉल कनेक्शन में काफी देरी करते हैं। अब समय आ गया है कि इसमें बदलाव किए जाएं और कॉलर ट्यून को हटा दिया जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.