राष्ट्रीय

गणतंत्र दिवस समारोह से पहले बढ़ी राजपथ की सुरक्षा

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस से पहले गाजीपुर की फूल मंडी के पास विस्फोटक आरडीएक्स बरामद होने के बाद दिल्ली पुलिस ने राजपथ और उसके आसपास की सुरक्षा काफी बढ़ा दी है। गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम से पहले राजपथ की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए फेशियल रिकग्निशन सिस्टम और 300 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

डीसीपी दीपक यादव ने बताया कि हमारे सामने आतंकियों की चुनौती के साथ इस बार कोरोना के बढ़ते मामले भी मुश्किल चुनौती हैं। दीपक कुमार ने तमाम पुलिसकर्मियों को दिल्ली की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए दिशा-निर्देश दिए हैं। सभी पुलिसकर्मियों से कहा गया है कि वह सभी जरूरी सावधानी बरतें और सुरक्षा के इंतजाम को पुख्ता रखें।

दीपक कुमार ने कहा कि हमने किराएदारों की जानकारी को इकट्ठा करने की प्रक्रिया को तेज कर दिया है। नई दिल्ली इलाके में स्थित होटल में आने वाले लोगों की भी जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं। इसके साथ ही हमने एक एंटी ड्रोन टीम को भी तैनात किया है जोकि आसमान में उड़ने वाली संदिग्ध वस्तुओं को देख ले और सुरक्षा घेरे से किसी भी तरह का समझौता ना हो।

उन्होंने बताया कि हमने राजपथ के आसपास हमने 300 कैमरों के साथ चेहरों को पहचान करने वाले सिस्टम लगा दिए हैं। इस सिस्टम में 50 हजार संदिग्ध अपराधियों को डेटाबेस हैं। दीपक यादव ने आगे बताया कि कोविड-19 से संबंधित प्रतिबंधों की वजह से सिर्फ 4 हजार टिकट उपलब्ध रहेंगे और कुल 24 हजार लोगों को ही इस समारोह में शामिल होने की इजाजत दी जाएगी।

गणतंत्र दिवस से पहले 14 जनवरी को गाजीपुर फूल मंडी में आईईडी मिला था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘आईईडी मिलने के बाद जांच के तहत गाजीपुर फूल मंडी से जुड़े लगभग 40 लोगों से पूछताछ की गई है हालांकि, हमें अभी तक मामले में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पाई है।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.