मेरा गाज़ियाबाद

गाजियाबाद में आज से 4.6 लाख लोगों को लग रही है बूस्टर डोज

गाजियाबाद। आज से भारत में कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज की शुरुआत हो रही है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 दिसंबर को भारत में बूस्टर डोज और 15 साल से 18 साल के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन का ऐलान किया था। बच्चों को वैक्सीन लगने का काम 3 जनवरी से शुरू हो चुका है जबकि आज से बूस्टर डोज की शुरुआत हो गई है। इसी क्रम में आज सोमवार से गाजियाबाद में के करीब साढ़े चार लाख लोगों को बूस्टर डोज देने की शुरुआत हो गयी है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. नीरज अग्रवाल ने बताया कि जिले में 25 हजार 824 हेल्थ केयर और 22 हजार 579 फ्रंटलाइन वर्कर्स और तीन लाख 26 हजार 787 बुजुर्ग (60 वर्ष से अधिक) हैं। जिसने पहले जो वैक्सीन लगवाई है, उसे उसकी ही बूस्टर डोज लगेगी। को वैक्सीन लगवाने वाले को कोवैक्सीन और कोविशील्ड लगवाने वाले को कोविशील्ड वैक्सीन की बूस्टर डोज लगाई जाएगी। बूस्टर डोज कोविड वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के नौ माह पूरे होने के बाद ही लिया जा सकता है।

प्रशासन ने हेल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को बूस्टर डोज लगाने का फैसला कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रोन और संभावित तीसरी लहर को देखकर लिया है। ताकि तीसरी लहर की दस्तक पर आगे रहकर संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले इन फ्रंटलाइन और हेल्थ केयर वर्करों के जीवन को सुरक्षित किया जा सके।

कौन लगवा सकता है बूस्टर डोज
बूस्टर डोज फिलहाल तीन श्रेणी के लोगों को लगाई जाएगी। पहली श्रेणी में वरिष्ठ नागरिक आएंगे। जो बुजुर्ग 60 साल से अधिक उम्र के हैं और 9 महीने पहले वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा चुके हैं उन्हें बूस्टर डोज लगाई जाएगी। इसके अलावा जो फ्रंटलाइन वर्कर हैं जिसमे चुनाव में शामिल अधिकारी और कर्मचारी भी हैं उन्हें बूस्टर डोज लगाई जाएगी। इसके अलावा स्थास्थ्यकर्मियों को भी बूस्टर डोज लगाई जाएगी। इसके साथ ही जो वरिष्ठ नागरिक मधुमेह, हाइपरटेंशन या किसी गंभीर बीमारी से लड़ रहे हैं वह अपने डॉक्टर की सलाह पर तीसरी डोज लगवा सकते हैं।

पहचान पत्र ले जाएं साथ
60 की उम्र से अधिक वाले जो बुजुर्ग तीसरा डोज लगवाना चाहते हैं, उनके लिए जरूरी है कि अपना आधार कार्ड और मोबाइल नंबर जरूर साथ रखें। जिस मोबाइल नंबर पर पहला डोज दर्ज है, उसी नंबर को तीसरे डोज के लिए प्रयोग करें। रजिस्ट्रेशन स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि तीसरी डोज के लिए रजिस्ट्रेशन कराने की कोई जरूरत नहीं है। जो लोग तीसरी डोज के लिए योग्य हैं वह सीधे वैक्सीनेशन सेंटर पर जा सकते हैं और वॉक इन अप्वांटमेंट लेकर वैक्सीन लगवा सकते हैं।

स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंट लाइन वर्कर के लिए भी अपना पहचान पत्र और मोबाइल साथ ले जाना जरूरी है। सभी का मौके पर ही पंजीकरण किया जाएगा। हालाँकि पंजीकरण ऑनलाइन भी करा सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *