अपराधख़बरें राज्यों से

एयरपोर्ट से पकड़ा गया बांग्लादेशी सरगना, चोरों के बड़े गैंग का खुलासा

दिल्ली। शाहदरा जिले के स्पेशल स्टाफ ने अंतरराज्यीय गिरोह के पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया है। गिरोह का सरगना बांग्लादेशी नागरिक है, वह एक राज्य से दूसरे राज्य की हवाई यात्रा कर चोरी करता था। शातिर चोर दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से फ्लाइट पकड़ने ही वाला था कि पुलिस ने उसे विमान में बैठने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने 42 वारदात को सुलझाने का दावा किया है।

17 नवंबर को जगतपुरी निवासी अशोक कुमार ने घर में चोरी की शिकायत दी थी। वारदात के समय परिवार दिल्ली से बाहर था। बदमाशों ने 5 लाख नकद और लाखों की जूलरी चोरी कर ली थी। टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पुलिस ने करीब 200 लोगों को चिह्नित किया था। लगातार छानबीन के बाद पुलिस ने 9 दिसंबर को सुभान खान उर्फ सोनू को शाहदरा से दबोच लिया। उसके पास से चोरी का माल व अन्य सामान बरामद हुआ। पूछताछ में सुभान ने बताया कि वह सरगना शहादत, अरशद और साहिन के साथ मिलकर चोरी करता था।

सुभान से पूछताछ के बाद आरोपी शहादत के घर सीमापुरी झुग्गी में दबिश दी गई। हालांकि भनक लगते ही वह फरार हो गया। टीम को सूचना मिली कि उसने अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए बैंगलोर के लिए हवाई टिकट बुक किया था और एक या दो घंटे में दिल्ली से निकल जाएगा। टीम तुरंत आईजीआई हवाईअड्डे की ओर दौड़ी और हवाईअड्डा अधिकारियों की मदद से आरोपी शाहदत को विमान में चढ़ने से ठीक पहले पकड़ लिया।

पूछताछ के दौरान शहादत ने खुलासा किया कि वो काफी लंबे समय से चोरियां करता आ रहा है। वो चोरी के 18 से अधिक मामलों में शामिल रहा है। उसके घर से एक पिस्टल और चोरी की हुई नगदी और गहने बरामद किए गए। उसने खुलासा किया कि उसका साथी साहिन अपनी पत्नी को छोड़ने के लिए रोजाना झिलमिल कॉलोनी आता है। उसके बाद साहिन को भी गिरफ्तार कर लिया गया। इनसे पूछताछ के माल के रिसीवर जावेद अली और विजय कुमार को गिरफ्तार किया गया।

फिलहाल इसकी गिरफ्तारी से चोरी के 42 मामले सुलझे हैं। यह भी पता चला कि आरोपी शहादत और साहिन पर यूपी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट 1986 में मामला दर्ज किया था। आरोपियों के कब्जे से एक पिस्टल, बाइक, स्कूटी, 12 मोबाइल, 27 तोले सोना, डेढ़ किलो चांदी, 12 महंगी घड़ियां और नकदी बरामद हुई।

पत्नियां देती थीं टिप
शहादत की पत्नी सलमा और शाहीन की पत्नी घरों में काम करती थी। ये वहां रखे माल का पता करती थीं। पत्नी की हरी झंडी के बाद मकान की रेकी की जाती थी। इसके बाद देर रात चोरी की जाती थी। ज्यादातर बंद मकानों को ‌निशाना बनाया जाता था। कई बार सोते हुए लोगों को बंधक बनाकर भी वारदात को अंजाम दिया जाता था। पुलिस ने फिलहाल शाहीन और शहादत की पत्नी को गिरफ्तार नहीं किया है।

पकड़े गए आरोपी
मूलरूप से बांग्लादेश निवासी शहादत नई सीमापुरी में रहता है। दिल्ली और यूपी में उसके खिलाफ चोरी के 18 मामले दर्ज हैं। उसकी पत्नी भी बांग्लादेशी है। वहीं सुभान न्यू सीमापुरी निवासी है। पहले वह एक स्कूल में चालक था। नौकरी छूटने के बाद उसने चोरी शुरू कर दी। साहिन गाजियाबाद निवासी है। उसके खिलाफ भी दिल्ली और यूपी में 24 मामले दर्ज हैं। वहीं जावेद और विजय दोनों चोरी के माल के रिसीवर हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *