Tuesday, November 30, 2021
अपराधख़बरें राज्यों से

यूपी में जमीन विवाद में सगे भाइयों की गोली मारकर हत्या, पुलिस छावनी में तब्दील गांव

देवरिया। उत्‍तर प्रदेश के देवरिया में जमीन के झगड़े में मंगलवार की सुबह अंधाधुंध गोलियां तड़तड़ाते हुए हमलावरों ने दो सगे भाइयों की हत्या कर दी। इस घटना में छह लोग घायल हुए हैं। वारदात की सूचना मिलते ही एसपी समेत अन्य पुलिस अफसर मौके पर पहुंच गए। तनाव को देखते हुए गांव में भारी फोर्स लगा दी गई है।

जनपद के बरहज थाना क्षेत्र के चकरा नोनार गांव रहने वाले लालधारी यादव का उनके पड़ोसी हंसनाथ से काफी समय से जमीन विवाद है। लालधारी के भाई लल्लन यादव का पिछले दिनों निधन हो गया था। 25 नवंबर को उनका ब्रह्मभोज है। उसके लिए लालधारी के बेटे कोकिल (उम्र 40 वर्ष) और रमेश (उम्र 39 वर्ष) परिजनों के साथ मंगलवार की सुबह घर के आसपास सफाई कर रहे थे। इसी दौरान हंसनाथ के परिवार से उनका विवाद शुरू हो गया। आरोप है कि कहासुनी के दौरान ही हंसनाथ के बेटे बैजनाथ और अन्य ने लाइसेंसी बंदूक और अवैध असलहे से लालधारी के परिवार पर हमला बोल दिया।

इस दौरान रमेश यादव, कोकिल यादव, बेचू यादव, लालधारी यादव, अंकि, शिवानंद यादव, देवानंद यादव समेत आठ लोग घायल हो गए। सभी को इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जहां चिकित्सक ने रमेश यादव, कोकिल यादव को मृत घोषित कर दिया।

घटना में मारे गए दोनों सगे भाई कोकिल और रमेश नैनीताल में प्राइवेट नौकरी करते थे। दोनों चाचा के ब्रह्मभोज में शामिल होने के लिए घर आए थे। घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ गया है। इसको देखते हुए गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। सीओ देवानंद के नेतृत्व में बरहज, भलुअनी, मदनपुर, एकाैना, मईल, खुखुंदू थाने की पुलिस के साथ ही पीएसी तैनात कर दी गई है। जबकि जिला अस्पताल में पुलिस अधीक्षक डा.श्रीपति मिश्र, एएसपी राजेश कुमार सोनकर, सीओ सिटी श्रीयश त्रिपाठी मौजूद हैं।

उधर घटना से गुस्‍साए घरवालों ने पुलिस को शव देने से इंकार कर दिया है। परिजन मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़े हैं। वह पुलिस और प्रशासन पर मामले में लापरवाही का आरोप लगाते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं। घटना की सूचना पर जिला अस्पताल की इमरजेंसी में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई है। भीड़ को देखते हुए अस्पताल परिसर भी पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है।

घटना के बाद समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष दिलीप यादव, विजय प्रताप यादव, अशोक यादव, हृदयानंद जायसवाल समेत तमाम नेता पहुंचे। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष अंतर्यामी सिंह ने जिला अस्पताल के इमरजेंसी में जाकर स्वजन को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!