Friday, December 3, 2021
मेरा गाज़ियाबाद

लोनी विधायक को असलम चौधरी की धमकी- ‘सात युवकों को गोली लगवाने का बदला तेरे बाप से लूंगा’, मुकदमा दर्ज

गाजियाबाद। लोनी बार्डर थाना क्षेत्र में सात गोतस्करों को पुलिस मुठभेड़ के मामले में भाजपा और सपा विधायक आमने सामने आ गए हैं। धौलाना विधायक सपा नेता असलम चौधरी का एक वीडियाे सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें वह कह रहे हैं कि विधायक(नंद किशोर गुर्जर) से फिर से कह दूं कि जो सात अभियुक्तों को गोली लगवाई है, तेरे पिता से भी इसका बदला मैं लेकर दिखाऊंगा। धमकी वाला वीडियो वायरल होने पर मसूरी पुलिस ने असलम चौधरी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा, 506, 505, 153 ए में केस दर्ज किया है।

वायरल वीडियो में धौलाना विधायक असलम कह रहे हैं कि विधायक (नंद किशोर गुर्जर) से फिर से कह दूं कि जो सात अभियुक्तों को गोली लगवाई है। तेरे पिता से भी इसका बदला मैं लेकर दिखाऊंगा। वह लोगों को संबोधित करते हुए कहते हैं कि बहुत सारे हिसाब लेने हैं। अगर आपको भी अपने सारे हिसाब लेने हैं, अपने बच्चों का भविष्य ठीक करना है तो अपने बेटे-अपने लाल को हाकिम बनाना होगा।

इस मामले में लोनी से विधायक भाजपा नेता नंद किशोर गुर्जर का जवाब भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। उनका कहना है कि धमकी दिए जाने का मामला उनकी जानकारी में नहीं है। अगर उन्होंने (धौलाना विधायक) ऐसा कहा है तो उनकी बात का क्या बुरा मानना। वह पढ़ा-लिखा आदमी नहीं है। कुछ भी बोल सकता है। उसकी क्या हैसियत है।

वहीं असलम चौधरी का वीडियो वायरल होने के बाद मसूरी थाने में डासना पुलिस चौकी के प्रभारी उपनिरीक्षक लोकेश कुमार की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। लोकेश कुमार का कहना है कि 21 नंवबर को वह डासना क्षेत्र में गश्त पर थे। इस दौरान इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित एक वीडियो मिला। इस वीडियो में धौलाना विधायक असलम चौधरी डासना में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान मंच पर माइक से कुछ लोगों को संबोधित करते हुए लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर और उनके पिता को बदला लेने की धमकी देते हुए धार्मिक उन्माद फैलाते दिख रहे हैं। पुलिस ने बताया कि लोकेश कुमार की शिकायत पर चौधरी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 506, 505 सी और 153 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

11 नवंबर को हुई थी मुठभेड़
लोनी बॉर्डर पुलिस ने 11 नवंबर को बेहटा हाजीपुर के गोदाम में छापा मारकर मुठभेड़ में सात गोतस्करों को गिरफ्तार किया था। सातों के पैर में एक ही जगह गोली लगने के कारण इस मुठभेड़ पर सवाल उठाए गए, जिसके बाद एसएसपी ने 13 नवंबर को लोनी बॉर्डर एसएचओ राजेंद्र त्यागी को हटाते हुए इंदिरापुरम थाने में इंस्पेक्टर क्राइम बनाया था। तबादले से मनोबल गिरने की बात कहते हुए इंस्पेक्टर ने तस्करा डाल घर के लिए रवानगी करा ली थी। अनुशासनहीनता के आरोप में एसएसपी ने इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया था। मुठभेड़ के बाद से ही लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर इस मामले से जुड़े हुए हैं। नंद किशोर गुर्जर ने एसएसपी पर सवाल उठाए थे। इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी का तबादला निरस्त करने की मांग की थी।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!