एनसीआर

प्रदूषण की वजह से दिल्ली में स्कूल-कॉलेज 20 तक बंद

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए एक सप्ताह राजधानी के सभी स्कूल, कालेज और कोचिंग संस्थान बंद रहेगें। इसके साथ ही सरकारी कर्मचारी वर्क फ्राम होग करेंगे। दिल्ली के निजी संस्थान को भी ऐसा ही करने के लिए कहा गया है।

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काफी गंभीर था। रविवार को इसमें कुछ सुधार हुआ है, लेकिन अभी अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में दिल्ली में प्रदूषण का स्तर और खराब होगा। इसी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली में स्कूल-कॉलेज, कोचिंग संस्थान समेत सभी प्रशिक्षण संस्थान 20 नवंबर तक बंद रहेंगे, लेकिन छोटी-बड़ी सभी निर्माण और विध्वंस गतिविधियां 17 नवंबर तक बंद रहेंगी।

इसके अलावा दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले सभी कार्यालय, कॉरपोरेशन और स्वायत्तशासी संस्थाएं भी 17 नवंबर तक बंद रहेंगी। अधिकारी-कर्मचारी घर से काम करेंगे। पर्यावरण मंत्री ने कहा इस दौरान स्वास्थ्य, पुलिस, बिजली, पानी, पब्लिक ट्रांसपोर्ट समेत सभी इमरजेंसी और जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। दिल्ली के प्राइवेट सेक्टर को भी वर्क फ्रॉम होम करने की सलाह देते हुए एडवाइजरी जारी की गई है। हालांकि, इस दौरान केंद्र सरकार के अधीन आने वाले ऑफिस खुले रहेंगे।

कोर्ट ने दिल्ली सरकार और केंद्र दोनों से वायु गुणवत्ता स्तर में सुधार के लिए आवश्यक कदम उठाने को भी कहा। हाल ही में, एक याचिका पर सुनवाई करते हुए, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा, “आपने 2 सप्ताह पहले सभी स्कूल खोले हैं, अब आप बच्चों को स्कूल जाते हुए देख रहे हैं और उनके फेफड़ों और जीवन को गंभीर प्रदूषकों के लिए उजागर कर रहे हैं।”

न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने इस बात पर भी प्रकाश डाला था कि जो बच्चे स्कूल जा रहे हैं, वे प्रचलित महामारी, बिगड़ती वायु गुणवत्ता और डेंगू के संपर्क में आ रहे हैं। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा है कि वायु प्रदूषण बढ़ने का कारण पड़ोसी राज्यों में पराली जलाना है। प्रदूषण को कम करने के लिए मुख्यमंत्री ने सभी हितधारकों से मिलकर काम करने और प्रदूषण से निपटने का आह्वान किया है।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.