Tuesday, November 30, 2021
अंतर्राष्ट्रीयताजा खबर

‘धरती पर एलियन का जन्म, मंगलग्रह पर है घर’ चौंकाने वाले दावे

वोल्गोग्राद। दुनिया में कई ऐसे दावे किए जाते रहे हैं जिन पर यकीन कर पाना नामुमकिन होता है, हालांकि इनमें से कुछ सच होते हैं तो कुछ समझ से परे। ऐसा ही अजीबोगरीब दावा रूस के वोल्गोग्राद में रहने वाले एक लड़के द्वारा किया गया जिस पर यकीन करना बेहद मुश्किल है। अब तक आपने इंसानों के पुनर्जन्म की कहानियां सुनी होंगी लेकिन रूस के इस लड़के का दावा है कि वह पिछले जन्म में एलियन था और अब इंसानी रूप मिला है।

वोल्गोग्राद के रहने वाले बोरिस्का किप्रियनोविच का दिमाग काफी तेज है, उनका दावा है वह मार्स यानी मंगलग्रह पर एलियन के रूप में जन्म ले चुके हैं, इंसानी रूप में ये इनका दूसरा जन्म है। इतनी कम उम्र में बोरिस्का को अंतरिक्ष का काफी ज्ञान है, मीडिया रिपोर्ट्स में इसे ‘चाइल्ड जीनियस’ कहा जा रहा है जिसने जानकारों को हैरान कर दिया है।

बोरिस्का ने यह दावा किया कि मार्स पर मौजूद एलियन ऑक्सीजन की बजाए कार्बनडाय ऑक्साइड में सांस लेते हैं। लड़के ने कहा कि जब एलियंस धरती पर आएंगे तो उसे अपने साथ ले जाएंगे। 2017 में यह बच्चा पहली बार सामने आया था जब उसने 11 साल की उम्र में पृथ्वी को लेकर कुछ चेतावनियां जारी की थीं। उसने दावा किया कि हजारों साल पहले एक न्यूक्लियर संघर्ष में उसकी प्रजाति का समूल विनाश हो गया था। और हमारी पृथ्वी भी अब उसी दिशा में आगे बढ़ रही है। बोरिस्का ने कहा कि पृथ्वीवासियों को भी ‘उसके लोगों’ की तरह तबाही का सामना करना पड़ेगा। उसने कहा कि उसे मानव जाति को बचाने के लिए एक मिशन पर यहां भेजा गया था।

बोरिस्का बताता है कि उसे ‘याद है’ कि वह मंगल ग्रह पर पायलट था और एक युद्ध में अपने ग्रह के तबाह होने के बाद उसने पृथ्वी की यात्रा की थी। उसने दावा किया कि अभी भी मंगल पर कुछ लोग मौजूद हैं। उसने कहा कि मानव जाति को तबाही से बचाने के लिए उसने ‘अन्य लोगों’ के साथ पृथ्वी पर पुनर्जन्म लिया था। बोरिस्का के दावे यहीं नहीं रुके, उसने कहा कि मंगल पर कुछ लोग अमर हैं और 35 साल की उम्र के बाद उनकी उम्र बढ़ना बंद हो जाती है। बोरिस्का ने एक बड़ा दावा करते हुए कहा कि मार्स पर हुए एक युद्ध के दौरान न्यूक्लियर विस्फोट की वजह से ज्यादातर लोग मारे गए लेकिन आज भी वहां कुछ एलियन मौजूद हैं। उन्हें घर और हथियार बनाना आता है।

डॉक्टरों ने कहा कि वह कुछ महीनों में बोलने लगा था और सिर्फ डेढ़ साल की उम्र में वह पढ़ और पेंट करने लगा था। पढ़ाई शुरू करने के बाद उसकी मैमोरी पावर ने टीचरों को चौंका दिया था। वहीं, बोरिस्का की मां का कहना है कि उनके बेटे का आईक्यू लेवले पहले से ही काफी अच्छा था, कई बार तो वह खुद हैरान रह गई थीं। उन्होंने काफी कम उम्र में ही बोलना शुरू कर दिया था, जबकि डेढ़ साल की उम्र में ही लिखने और पढ़ने लगा था। माता-पिता ने कहा कि उन्होंने कभी बोरिस्का को खासतौर पर स्पेस के बारे में शिक्षा नहीं दी। इसके बावजूद वह अक्सर मंगल ग्रह, एलियंस और स्पेस में हैरान करने वाली बातें करता है।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!