Monday, November 29, 2021
ख़बरें राज्यों सेताजा खबरमेरा स्वास्थ्य

कानपुर में जीका वायरस का कहर, 89 पर पहुंचा आंकड़ा

कानपुर। यूपी के कानपुर कानपुर में जीका वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। शनिवार को 13 नए मरीजों के सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 79 पर पहुंची थी। वहीं, रविवार को भी 10 नए मरीजों में जीका का संक्रमण मिला है। प्रशासन की ओर से जीका संक्रमण के प्रभाव को देखते हुए अस्पतालों को अलर्ट किया गया था।

शहर में संक्रमण के बेकाबू होने के बाद से प्रशासनिक महकमा अलर्ट है। इसके बाद भी मरीजों की संख्या को काबू करने में सफलता नहीं मिल रही है। जीका संक्रमण अब कानपुर से निकल कर कन्नौज तक पहुंच चुका है। वहां पर एक मरीज में जीका वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, कानपुर में भी नए मरीजों के सामने आने का सिलसिला लगातार जारी है। प्रशासन की ओर से अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है। अस्पताल में जीका वार्ड बनाए गए हैं, ताकि मरीजों का इलाज तुरंत किया जा सके।

शहर में संक्रमण के बेकाबू होने के बाद से प्रशासनिक महकमा अलर्ट है। इसके बाद भी मरीजों की संख्या को काबू करने में सफलता नहीं मिल रही है। जीका संक्रमण अब कानपुर से निकल कर कन्नौज तक पहुंच चुका है। वहां पर एक मरीज में जीका वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, कानपुर में भी नए मरीजों के सामने आने का सिलसिला लगातार जारी है। प्रशासन की ओर से अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है। अस्पताल में जीका वार्ड बनाए गए हैं, ताकि मरीजों का इलाज तुरंत किया जा सके।

क्या है जीका वायरस
जीका वायरस से फैलने वाली बीमारी का प्रसार एडीज मच्छर द्वारा होता है। यह मच्छर की वहीं प्रजाति है जिससे डेंगू और चिकनगुनिया जैसे खतरनाक वायरस का प्रसार होता है। जीका वायरस की पहचान सबसे पहले साल 1947 में युगांडा के बंदरों में हुआ था वहीं इंसानों में इस वायरस के बारे में साल 1952 में पता चला था।

जीका वायरस के लक्षण
जीका वायरस से संक्रमित कुछ लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं। आमतौर पर लक्षण किसी व्यक्ति को संक्रमित मच्छर द्वारा काटे जाने के दो से 14 दिनों के बीच होते हैं। ऐसे इसके लक्षण में बुखार, मांसपेशियों या जोड़ों में दर्द, आंखों में लाली, सिरदर्द, थकान, पेट में दर्द आदि हो सकता है। जीका वायरस के संक्रमण से मस्तिषक या तंत्रिका तंत्र की जटिलताएं हो सकती हैं, जैसे गइलेन बैरे सिंड्रोम।

जीका का रोकथाम
जीका वायरस संक्रमण का अभी कोई ईलाज मौजूद नहीं है। अगर इस संक्रमण का शिकार हो जाए तो भरपूर आराम करें ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थ पिए और सामान्य बुखार और दर्द की दवा से इलाज करें पर अगर स्थिति फिर भी नहीं सुधरती है तो डॉक्टर की तुरंत सलाह ले।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!