Sunday, November 28, 2021
एनसीआरताजा खबर

दिल्ली महिला आयोग का जस्ट डायल को नोटिस, ज‍िस्‍मफरोशी को बढ़ावा देने की भूमिका की होगी जाँच

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली महिला आयोग ने प्रमुख सर्च इंजन जस्‍टडायल को स्‍पा में सेक्‍स रैकेट को बढ़ावा देने के मामले में तलब किया है। इसके साथ ही इस सर्च इंजन के खिलाफ तुरंत एफआईआर करने के लिए दिल्‍ली पुलिस को भी नोटिस जारी किया है।

दिल्‍ली महिला आयोग की ओर से बताया गया कि आयोग को दिल्ली के स्पा में चलाए जा रहे वेश्यावृत्ति रैकेट के खिलाफ कई शिकायतें एवं जांच करने पर सबूत मिले। जिसके बाद आयोग ने एक जांच दल का गठन कर शिकायतों का संज्ञान लिया और ‘जस्टडायल डॉट कॉम’ पर इंक्वायरी की। इस दौरान दिल्ली में संचालित स्पा के कॉन्टैक्ट नंबरों की जांच की। जिसमें 24 घंटों के भीतर ही, आयोग की टीम को 15 से अधिक कॉल और 32 व्हाट्सएप प्राप्त हुए, जिसमें 150 से अधिक युवा लड़कियों की तस्वीरें एवं ‘सर्विस रेट’ की जानकारी दी गई थी।

आयोग ने बताया कि एक नंबर से एक संदेश प्राप्त हुआ जिसमें ‘स्पा’ द्वारा एक युवा लड़की की तस्वीर भेजी गई और बोला गया की ‘एक शॉट का रेट आपको 2500 लगेगा, फुल एन्जॉय करेगी, फुल कॉपरेट करेगी और फुल सर्विस करेगी। पूरी रात का रेट आपको 7000 लगेगा।सर गुड सरविस मिलेगा, सर सर्विस में आपको कोई दिक्कत प्रॉब्लम नहीं होगी’

यही नहीं बल्कि एक नंबर से भी ऐसा ही संदेश प्राप्त हुआ जिसमें 14 युवा लड़कियों की तस्वीरें साझा की गईं और कहा गया कि ‘नाइट 6500 का होगा, फुल नाइट, फुल सर्विस, फुल को ऑपरेट करेगी, लड़की यही होगी. फुल एन्जॉय करेगी। लड़की देखने के बाद पैसे देना ठीक है। बाकी सभी संदेश भी ऐसे ही शर्मसार करने वाले हैं जिनमें ‘सुंदर और युवा’ भारतीय और विदेशी लड़कियों के साथ सर्विस के ऑफर दिए गए।

आयोग की टीम ने जब स्पा सेवा के लिए विवरण का अनुरोध किया तो बदले में इस जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश हो गया। इस दौरान स्पा ने तुरंत ही चल रही अपनी सभी गैर कानूनी गतिविधियों और प्रॉस्टिट्यूशन रैकेट का खुद ही विवरण दे दिया। मामले का गहन संज्ञान लेते हुए महिला आयोग ने सख्त कार्रवाई करने के लिए अब दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच को नोटिस जारी किया है और जस्टडाइल के मैनजमेंट को भी समन जारी किया है।

आयोग ने जस्‍टडायल से जस्टडाइल पर रजिस्टर्ड सभी स्पा की सूची और उनके पंजीकरण में लागू किए जा रहे मानकों का भी विवरण मांगा है। जस्टडायल से खासतौर पर उन स्पा का विवरण देने के लिए कहा गया है जिन्होंने आयोग की टीम को यौन सेवाएं प्रदान करने के लिए संदेश भेजे थे। आयोग ने मामले को और गहराई से समझने के लिए जस्ट डायल से अपनी साइट पर सूचीबद्ध करने के लिए ली जा रही धन राशि की भी जानकारी मांगी है। आयोग ने मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली क्राइम ब्रांच से 12 नवंबर तक की गई कार्रवाई की विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी है।

इस मामले में डीसीडब्ल्यू अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि राजधानी में जिस तरह से ये गोरखधंधा चल रहा हैं, वह चौंकाने वाला है और पता नही ऐसे कितने ओर गिरोह छुपे बैठे हैं। हमने मामले में उनकी भूमिका की जांच के लिए जस्टडायल को तलब किया है। दिल्ली पुलिस को तुरंत प्राथमिकी दर्ज करने एवं इसमें शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार करने के लिए एक नोटिस भी जारी किया है। इस मामले में जल्द से जल्द सख्त करवाई होना बेहद जरूरी है।आयोग जिस्म फिरोशी के खिलाफ अपनी लड़ाई पूरी ताकत के साथ इसी तरह जारी रखेगा।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!