Monday, November 29, 2021
ताजा खबरराष्ट्रीय

राजस्थान में 116 तो यूपी में 95 रुपये में पेट्रोल, दिल्ली में भी महंगा है तेल

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से परेशान लोगों को दिवाली से पहले केन्द्र सरकार ने बड़ा गिफ्ट दिया था। जिसके बाद कई राज्य सरकारों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती के लिए अपने हिस्से का वैट घटा दिया था। इसके बाद उत्तर प्रदेश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 12-12 रुपये की गिरावट देखने को मिली थी। वहीं, राजस्थान और दिल्ली सरकार ने वैट नहीं घटाया है जिसकी वजह से दोनों राज्यों में तेल महंगा मिल रहा है।

केंद्र सरकार की ओर से एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद राज्यों को वैट कम करने के लिए कहने पर ज्यादातर बीजेपी शासित राज्यों ने वैट घटा दिए। लेकिन राजस्थान इकलौता राज्य है जहां पर पेट्रोल पर टैक्स केंद्र से भी अधिक वसूला जा रहा है। केंद्र सरकार किसकी एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद अब पेट्रोल पर केंद्रीय टैक्स 27.90 रुपये प्रति लीटर रहा है वही राजस्थान सरकार अभी भी वैट के रूप में 30.51 रुपये प्रति लीटर वसूल रही है। यानी केंद्र सरकार के टैक्स से 2.60 रुपये प्रति लीटर राजस्थान सरकार पेट्रोल पर टैक्स अधिक वसूल रही है।

राजस्थान का श्रीगंगानगर जिले में पेट्रोल 116.34 रुपए लीटर और डीजल 100.53 रुपए लीटर बिक रहा है। जबकि दिल्ली में आज पेट्रोल का दाम 103.97 रुपये प्रति लीटर है, वहीं डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है।

राजस्थान पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन ने गहलोत सरकार से वैट की दरें घटाने की मांग की लेकिन राजस्थान सरकार ने दरें घटाने के बजाय केंद्र सरकार से मांग कर डाली की पेट्रोल डीजल की दरें अंतरराष्ट्रीय क्रूड ऑयल समकक्ष करें या फिर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी में शामिल करें। अशोक गहलोत ने केंद्रीय एक्साइज ड्यूटी घटने के बाद मोदी सरकार की अपील को नकार दिया है। जिसमें राज्यों को अलग से वैट घटाकर जनता को महंगाई से राहत देने को कहा गया है।

गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार के एक्साइज ड्यूटी घटाने से पहले ही राज्य का वैट घट चुका है। केंद्र सरकार और ज्यादा एक्साइज ड्यूटी घटाएगी, तो राज्यों का वैट भी अपने आप घट जाएगा, लेकिन गहलोत ने उस मुद्दे पर रिएक्शन नहीं दिया है, जिस पर प्रदेश बीजेपी के आरोप हैं कि राजस्थान में पेट्रोलियम पर सबसे ज्यादा वैट वसूली हो रहा है। इसे कम करने पर ही प्रदेश में पेट्रोलियम सस्ता होगा।

वहीं राजस्थान के पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश की शिवराज चौहान सरकार ने भी 4 फीसदी वैट घटाया। यही कारण है कि मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में जयपुर से काफी सस्ता पेट्रोल बिक रहा है। जबकि पहले देशभर के राज्यों की राजधानियों में भोपाल में सबसे महंगा पेट्रोलियम था। अब महंगे पेट्रोलियम का रिकॉर्ड राजस्थान के सिर आ गया है।

केंद्र से पेट्रोल पर 5, डीजल पर 10 रुपए घटे
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर केंद्र सरकार ने एक्साइज ड्यूटी कम करते हुए पेट्रोल पर 5 रुपए और डीजल पर 10 रुपए की रेट कम किया है। साथ ही केंद्र ने अपील की है कि राज्य भी अपने हिस्से का वैट कम करके पेट्रोलियम की बढ़ी कीमतों से जनता को राहत दें।

15 राज्य वैट कम करने की घोषणा कर चुके
केंद्र की अपील के बाद करीब 15 राज्य वैट कम करने की घोषणा कर चुके हैं। इनमें 12 भाजपा शासित राज्य-असम, त्रिपुरा, मणिपुर, कर्नाटक, गोवा, उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड ने पेट्रोलियम के दामों में एक्सट्रा कटौती करने की घोषणा की है। इसके अलावा बिहार, ओडिशा और सिक्किम ने भी वैट पर कटौती की है।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!