Sunday, November 28, 2021
ताजा खबरराजनीति

सीएम योगी का केजरीवाल पर निशाना, कहा- भगवान श्रीराम को गाली देने वाले अब उनकी ही शरण में आए

अयोध्या/लखनऊ। यूपी का विधानसभा चुनाव करीब है ऐसे में राजनीतिक दलों के नेताओं की बयानबाजी भी तेज होती जा रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनकी सरकार ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना’ के तहत अब दिल्ली वासियों को अयोध्या के भी नि:शुल्क दर्शन कराएगी। उनके इस बयान पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जोरदार हमला बोला है। आदित्यनाथ ने कहा कि जिन लोगों ने पहले भगवान श्रीराम के अस्तित्व को नकार दिया था वो भी अब अयोध्या आ रहे हैं। इन लोगों से दिल्ली तो संभलता नहीं यूपी में फ्री-फ्री कर रहे हैं।

रामलला के दर्शन दर्शन करने के बाद अरविंद केजरीवाल मीडिया से मुखातिब हुए और कहा कि दिल्‍ली के अंदर हमारी एक योजना है, मुख्‍यमंत्री तीर्थयात्रा योजना, इसमें हम दिल्‍ली वासियों को फ्री तीर्थयात्रा करवाते हैं। इसमें वैष्‍णोदेवी, शिरडी महाराज, विष्‍णु जी, हरिद्वार व ऋषिकेश समेत कई तीर्थ स्‍थल शामिल हैं। कल दिल्‍ली में हमने एक मीटिंग रखी है उसमें हम कल अयोध्‍या को भी उस लिस्‍ट में एड करेंगे। अब दिल्‍ली के लोग राम जन्‍म भूमि अयोध्‍या के भी दर्शन कर सकेंग। इस योजना में लोगों का आना जाना, एसी ट्रेन से, होटल में रुकना, खाना पीना सब कुछ सरकार देती है जनता कुछ नहीं देती है। यूपी में हमारी सरकार बनती है तो उत्‍तर प्रदेश वासियों को भी अयोध्‍या में राम जी के दर्शन कराने के लिए फ्री में अरेंजमेंट करेंगे। हमने लखीमपुर पीडि़तों को अंशदान दिया, लेकिन दान ऐसा होना चाहिए कि दायां हाथ दे तो बांये हाथ को पता न चले।

मीडिया के सवाल विपक्ष द्वारा एक्‍सीडेंटल हिंदू कहे जाने को उन्‍होंने हंसकर टाल दिया। कहा, उनको कहने दीजिए इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। भगवान के दरवार सबके लिए है। मैंने प्रभु से देश के लोगों के लिए सुख शांति मांगी है और प्रभु मुझे ताकत दे कि ज्‍यादा से ज्‍याद देशवासियों को यहां लाकर दर्शन करवा सकूं। वहीं यूपी में पार्टी के चहरे के सवाल पर उन्‍होंने कोई जवाब नहीं दिया। मीडिया से बातचीत करने के बाद मुख्यमंत्री अयोध्या से रामलला के दर्शन के बाद लखनऊ के लिए रवाना हो गए।

वहीं सीएम योगी ने अरविन्द केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले राम को गाली देते थे अब लगता है कि राम के बगैर राम के बिना नैया पार नहीं होगी तो अयोध्या आ गए। उन्होंने कहा कि छह दिसम्बर 1992 को कोई ऐसी पार्टी नहीं जिसने कल्याण सिंह को कोसा नहीं हो। अब केजरीवाल से दिल्ली संभल नहीं रही है तो रामलला की शरण में आए हैं। इनसे दिल्ली संभलती नहीं और यूपी में फ्री-फ्री की बात करते हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले प्रदेश में रामनवमी, दुर्गापूजा, रामलीला पर कर्फ्यू लग जाता था। प्रशासन का डंडा चलता था। अब ऐसा नहीं है। वह लोग आस्था को कैद रखते थे। अब ऐसा नहीं है। आप सभी ने देखा विजयदशमी आई तो खुलकर मनाई गई, वह भी कोरोना काल में भी। और अब धूम से दीपावली भी मनेगी।

भाजपा उत्तर प्रदेश इन दिनों लखनऊ में सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन का आयोजन करा रही हैहै। मंगलवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में लोध-राजपूत सम्मेलन को सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रवासी मजदूरों को भगाया था, अब चुनाव में यूपी नजर आ रहा है। जब इनको मौका मिला था, तब इन्होंने यूपी और बिहार के प्रवासियों को दिल्ली में नहीं रोक सके, उनके लिए रहने-खाने की व्यवस्था नहीं कर सके। अब उनको तरह-तरह की चीजें मुफ्त उपलब्ध कराने के वादे करके चुनाव में फायदा उठाना चाहते हैं।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!