Friday, December 3, 2021
अपराधख़बरें राज्यों सेताजा खबर

जीएसटी अधिकारियों ने व्यापारी से लूटे 43 लाख, चालक ने की थी रेकी, दो और गिरफ्तार

आगरा। यूपी के आगरा में मथुरा के चांदी कारोबारी प्रदीप अग्रवाल से 43 लाख रुपये जीएसटी अधिकारियों ने दलाल मुकेश सिंह की मुखबिरी पर लूटे थे। पुलिस ने इस मामले में शुक्रवार को दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने फतेहपुर सीकरी निवासी गया प्रसाद और मथुरा निवासी राकेश कुमार को पकड़ा गया है। थाना लोहामंडी के प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार ने बताया कि पकड़ा गया राकेश व्यापारी का ड्राइवर है। वह पूर्व में जेल भेजे गए मुकेश का दोस्त है। मुकेश जीएसटी अधिकारियों का दलाल था। व्यापारी के आगरा आने की जानकारी राकेश ने ही मुकेश को दी थी। इसके बाद मुकेश ने जीएसटी अधिकारियों को जानकारी दी थी। टीम ने उन्हें पकड़कर 43 लाख रुपये लूट लिए थे। पुलिस ने मुकेश की कॉल डिटेल खंगाली थी। इसके बाद राकेश के बारे में सुराग मिला था। व्यापारी ने शक होने पर राकेश को पहले ही नौकरी से निकाल दिया था।

लखनऊ तक गया था गया प्रसाद
गया प्रसाद मुकेश का साथी है। वह मुकेश के साथ लखनऊ तक गया था, जिससे वह व्यापारी की रेकी कर रहे थे। इस मामले में पूर्व में जीएसटी अधिकारी अजय कुमार, शैलेंद्र कुमार गाड़ी का निजी चालक और सिपाही जेल भेजे जा चुके हैं। दलाल मुकेश को भी जेल भेजा गया है। शैलेंद्र कुमार को रिमांड पर लेकर पुलिस ने डेढ़ लाख रुपये भी बरामद किए थे। जीएसटी अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया था।

ये था मामला
मथुरा के चांदी व्यापारी प्रदीप अग्रवाल के साथ इस साल 30 अप्रैल को घटना हुई थी। बिहार की मंडी करके लौट रहे प्रदीप अग्रवाल को लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फतेहाबाद टोल के पास जीएसटी टीम ने चेकिंग के लिए रोका था। प्रदीप अग्रवाल का आरोप था कि उन्हें जयपुर हाउस कार्यालय पर लाया गया। जेल भेजने की धमकी देकर उनके 43 लाख रुपये लूट लिए। उन्होंने थाना लोहामंडी में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

विभागीय जांच में नाम स्पष्ट होने के बाद मुकदमे में असिस्टेंट कमिश्नर जीएसटी अजय कुमार, जीएसटी अधिकारी शैलेंद्र कुमार, सिपाही संजीव और प्राइवेट गाड़ी चालक दिनेश के नाम खोले गए थे। साथ ही लूट, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और धोखाधड़ी की धाराएं बढ़ाई गई थीं। शैलेंद्र कुमार ने 17 सितंबर को मेरठ स्थित भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट में समर्पण किया था। विवेचक सीओ सदर राजीव कुमार ने कोर्ट के आदेश पर निलंबित वाणिज्यकर अधिकारी शैलेंद्र कुमार को शुक्रवार को तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिया था।

शैलेंद्र कुमार ने पुलिस को बताया कि मथुरा के खामनी गांव निवासी मुकेश सिंह वाणिज्यकर कार्यालय का दलाल है। अधिकारियों को सूचनाएं देता रहता है। उसने ही यह सूचना दी थी कि मथुरा के चांदी कारोबारी प्रदीप अग्रवाल बिना बिल की चांदी और लाखों का कैश लेकर बिहार से लौट रहे हैं। मुकेश सिंह लखनऊ से उनकी गाड़ी के पीछे लगा था। उन्हें पल-पल की सूचना दे रहा था। इस सूचना के एवज में उसे एक लाख रुपये मिलने थे। पेशगी के तौर पर उन्होंने मुकेश को 25 हजार रुपये दलाली थी।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!