Saturday, December 4, 2021
ख़बरें राज्यों सेताजा खबर

नवाब मलिक की वानखेड़े को चुनौती- सालभर में जाएगी नौकरी, लगाए गंभीर आरोप

मुंबई। क्रूज ड्रग्स पार्टी केस में एनसीपी नेता और महाराष्‍ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी समीर वानखेड़े के बीच में तल्खी बढ़ती जा रही है। मंत्री नवाब मलिक के वसूली वाले आरोपों पर समीर वानखेड़े ने जवाब दिया है।

क्रूज पार्टी केस से चर्चा में आए एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े पर बॉलीवुड के लोगों से वसूली का आरोप लगाते हुए एनसीपी नेता मलिक ने दावा किया कि वानखेड़े इसके लिए दुबई और मालदीव गए थे। मलिक ने आरोप लगाया कि समीर लॉकडाउन के दौरान मालदीव में थे, जब कई बॉलीवुड हस्तियां भी वहां थीं और वहीं पर वह जबरन वसूली का रैकेट चला रहा थे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि समीर वानखेड़े महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने के लिए भाजपा के इशारे पर काम कर रहे हैं।

नवाब मालिक के आरोपों पर समीर वानखेड़े ने कहा कि मैं कभी दुबई नहीं गया हूं। नवाब मलिक चाहें तो मेरा पासपोर्ट चेक करवा सकते हैं। एनडीटीवी से बातचीत में एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े ने कहा, ‘मैं दुबई नहीं गया था। मैं मालदीव गया था। मेरी बहन के साथ नहीं गया था, जैसा कि फोटो (नवाब मलिक द्वारा ट्वीट की गई तस्वीर) में बताया जा रहा है। मैं अपने बच्चों के साथ और उचित अनुमति लेकर कानूनी रूप से और अपने पैसे से गया था। मैंने लॉकडाउन के दौरान यह यात्रा नहीं की, बल्कि लॉकडाउन हटने के बाद यह यात्रा कुछ महीने पहले की थी।

एनसीबी के ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘मुझ पर पिछले 15 दिन से पर्सनल अटैक हो रहा है। मेरी मृतक मां, मेरी बहन और सेवानिवृत्त पिता पर अटैक हो रहे हैं, इसकी मैं निंदा करता हूं। मैं सरकारी मुलाजिम हूं और अपना काम कर रहा हूं। ड्रग्स हटाने के लिए जेल जाना भी मंजूर है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार एनसीबी समेत एजेंसियों पर राज्य को बदनाम करने का आरोप लगाती रही हैं। हाल में यह आरोप और भी तीखा और गंभीर हो गया है। एनसीपी के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कई दिनों से एनसीबी के जोनल चीफ समीर वानखेड़े और उनके परिवार पर हमला बोल रहे हैं। मलिक ने गुरुवार को वानखेड़े को चुनौती देते हुए कहा है कि सालभर के भीतर उनकी नौकरी चली जाएगी।

कौन हैं वानखेड़े
समीर वानखेड़े 2008 बैच के आईआरएस अधिकारी हैं और उनकी पहली पोस्टिंग मुंबई हवाई अड्डे पर सीमा शुल्क अधिकारी के रूप में हुई थी। मशहूर बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में भी ड्रग्स एंगल की जांच समीर वानखेड़े के नेतृत्व में हुई थी। समीर वानखेड़े की पहचान एक सख्त अधिकारी के तौर पर होती है। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई मशहूर हस्तियों को ड्यूटी चार्ज का भुगतान करने के बाद ही मुंबई हवाई अड्डे से जाने दिया था। कहा जाता है कि वानखेड़े ने अनुराग कश्यप, विवेक ओबेरॉय और राम गोपाल वर्मा सहित कई लोगों पर टैक्स जमा नहीं करने पर केस दर्ज किया था।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!