Thursday, December 2, 2021
ताजा खबरमेरा गाज़ियाबाद

गाजियाबाद: जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर बने यति नरसिंहानंद सरस्वती

गाजियाबाद। गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर यति नरसिंहानंद सरस्वती को जूना अखाड़े का महामंडलेश्वर बनाया गया है। पिछले एक साल से यति नरसिंहानंद लगातार चर्चा में हैं।

हरिद्वार के हरिहर आश्रम कनखल में बुधवार सुबह साढ़े छह बजे आयोजित कार्यक्रम में जूना अखाड़े के पीठाधीश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने नरसिंहानंद गिरि का महामंडलेश्वर पद पर अभिषेक किया। साथ ही उनको डासना देवी मंदिर का पीठाधीश्वर भी घोषित किया है। आज से स्वामी नरसिंहानंद गिरि श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर बन गए हैं। स्वामी नरसिंहानंद गिरि ने बुधवार को ट्वीट कर अपने महामंडलेश्वर बनने की जानकारी दी।

उन्होंने ट्वीट में लिखा- ‘यति नरसिंहानंद सरस्वती बने जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर। हिंदुओं पर बढ़ते हुए अत्याचारों ने संत समाज की प्राथमिकताएं बदली। जूना अखाड़ा ने इस्लामिक जिहाद के विरुद्ध संघर्ष के सबसे बड़े चेहरे यति नरसिंहानंद सरस्वती को बनाया महामंडलेश्वर।’

मूलरूप से बुलंदशहर के रहने वाले यति भाजपा के पूर्व सांसद बीएल शर्मा को अपना गुरु मानते हैं और अपनी कट्टर हिंदू की छवि के लिए जाने जाते हैं। आतंकी संगठन आइएस और लश्करे तैयबा की ओर से यति के खिलाफ फतवा जारी हो चुका है। बंदूकों के साये में रहने वाले यति पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एक बड़े हिंदू समुदाय के अघोषित पंच भी हैं।

लगातार चर्चा में
पिछले एक साल से यति नरसिंहानंद लगातार चर्चा में हैं। सबसे पहले मंदिर में एक बच्चे की कथित रूप से पानी पीने पर पिटाई का वीडियो वायरल हुआ था। मामला निपटा नहीं उससे पहले ही मंदिर में नाम बदलकर कुछ युवक घुसे। आरोप लगा कि युवक यति नरसिंहानद ही हत्या करने आए थे। मामला एटीएस के पास पहुंचा और पुलिस ने एक बड़े मतांतरण के केस का पर्दाफाश किया। जिसमें मंदिर में घुसे युवकों की संलिप्तता भी सामने आई थी।

यह प्रकरण अभी पूरी तरह से सुलझ नहीं पाया है। इस बीच मंदिर में ही रहने वाले एक साधू के ऊपर जानलेवा हमला हो गया। लंबे इलाज के बाद साधू की तो जान बच गई। लेकिन आज तक हमलावरों की जानकारी नहीं हो पाई है। हालांकि यति नरसिंहानंद ने इसे भी उनकी हत्या के षड्यंत्र से जोड़ा है।

जून, 2021 में ही उत्तर प्रदेश एटीएस द्वारा एक ऐसे गिरोह को पकड़ा गया, जिस पर हजारों गैर-मुस्लिमों के धर्मांतरण का आरोप है। गाज़ियाबाद के डासना देवी मंदिर के महंत स्वामी नरसिंहानंद सरस्वती ने इस खुलासे पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि कहा कि ये गिरोह भारत में गृहयुद्ध की तैयारी कर रहा था।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!