Tuesday, November 30, 2021
ताजा खबरमेरा गाज़ियाबाद

गाजियाबाद: एक साथ विदा हुए जुड़वां भाई, 25वीं मंजिल से गिरकर हुई थी मौत

गाजियाबाद। मां की कोख में एक साथ दोनों के दिल धड़कना शुरू हुए। साथ ही दुनिया में कदम रखा। घर में खुशहाली थी लेकिन इन खुशियों को अचानक ग्रहण लग गया। दोनों के सांसों की डोर थम गई। एक साथ दुनिया में आने वाले दोनों भाई सिर्फ 14 साल की उम्र में एक साथ रुख्सत हो गए। पीछे रह गईं तो सिर्फ सुनहरी यादें, जिसे यादकर माता-पिता की आंखें बार-बार नम हो जाती हैं।

सिद्धार्थ विहार की प्रतीक ग्रैंड सोसाइटी की 25वीं मंजिल से गिरकर दो जुड़वा भाइयों सत्य नारायण और सूर्य नारायण की मौत के बाद सोमवार सुबह उनका हरनंदी स्थित शमशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। उन्हें उनके पिता पलानी मुदलिया ने मुखाग्नि दी, इस दौरान पिता के आंसू थम नहीं रहे थे। इस हादसे से उनका परिवार एक झटके में बिखर गया है।

सूर्यनारायण और सत्यनारायण का जन्म 29 अगस्त 2007 को हुआ था। जानकारी के अनुसार सूर्य सत्य से एक मिनट बड़ा था। दोनों हमेशा एक साथ रहते थे। एक ही स्कूल और एक ही क्लास में पढ़ाई करते थे। सोसायटी के लोगों के अनुसार दोनों भाई हर वक्त एक साथ होते थे। ऐसा कभी देखने को नहीं मिला कि एक भाई घर पर हो और दूसरा बाहर।

परिजनों के अनुसार, दोनों भाई आए दिन बालकनी में चांद देखने के लिए खड़े हो जाते थे और काफी समय तक देखते रहते थे। कई बार परिवार के लोगों को उन्हें डांटना पड़ता था। तब वह रूम में अंदर आते थे। वहीं, सत्य नारायण और सूर्य नारायण को जितना चांद देखना पसंद था, छिपकली से उतनी ही नफरत थी। छिपकली देखते ही उसे मारने को झपट पड़ते थे। इसी वर्ष 29 अगस्त को उनके 14 साल पूरे होने पर परिवार ने धूमधाम से जन्मदिन मनाया था।

25वीं मंजिल से गिरकर हुई थी मौत
मूल रूप से चेन्नै के रहने वाले पलानी मुदलिया अपने परिवार के साथ प्रतीक ग्रैंड सोसायटी में 25वें फ्लोर पर रहते हैं। उनके परिवार में पत्नी और बेटी के साथ दो जुड़वा बेटे थे। पलानी ऑफिस के काम से मुंबई गए थे। शनिवार रात को उनका परिवार घर पर था। रात करीब साढ़े 10 बजे टीवी देखने के बाद पत्नी राधा सो गई थीं। करीब 12 बजे आंख खुलने पर जब पुकारने पर दोनों में से किसी ने भी जवाब नहीं दिया। उन्होंने नीचे झांककर देखा तो उनके होश उड़ गए। अपनी बेटी के साथ लिफ्ट से नीचे की तरफ पहुंची। जहां दोनों बेटे खून से लथपथ पड़े हुए थे, दोनों की मौत हो गई थी। घटना के बाद पूरा परिवार सदमे में है। दोनों बच्चों की मां राधा रोते हुए सिर्फ बार-बार सिर्फ यही कह रहीं थीं कि अगर उन्होंने दोनों को अंदर ले जाकर सुला दिया होता, तो शायद ऐसा नहीं होता।

वहीं हादसे के बाद पुलिस ने सोसायटी में लगे हुए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली है, लेकिन जहां यह फ्लैट है और जहां यह हादसा हुआ, उस लोकेशन में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। पुलिस टीम ने पीड़ित परिवार के घर पहुंच कर हादसे का सीन रीक्रिएट भी किया है। इसमें पुलिस ने समझने का प्रयास किया है कि आखिर यह हादसा कैसे हुआ। पुलिस टीम ने हादसे के संबंध में पलानी दंपति और उनकी बेटी से पूछताछ भी की है।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!