Friday, December 3, 2021
ख़बरें राज्यों सेताजा खबर

अपनी मां के लिए बना नकली आईपीएस अफसर, गिरफ्तार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक युवक अपनी मां के लिए फर्जी आईपीएस अफसर बन गया। आरोपी को शक था कि उसकी मां को चुनाव ड्यूटी में लगाकर परेशान किया जा रहा है। इसी चलते वह फर्जी आईपीएस का चोला ओढ़ लिया।

विपिन कुमार चौधरी मूल रूप से कौशाम्बी जिले के महेवाघाट थाना क्षेत्र स्थित बड़ी अढ़ौली निवासी बनवारी लाल का बेटा है। वह प्रयागराज के राजरूपपुर में किराए का कमरा लेकर सिविल परीक्षाओं की तैयारी किया करता था। एसटीएफ के मुताबिक उसकी मां सुमति देवी मनकापुर प्राथमिक विद्यालय कौशाम्बी में सहायक अध्यापक है। इसी विद्यालय में सुशील कुमार सिंह भी सहायक अध्यापक के पद पर तैनात है। विपिन ने बताया कि उसे लगता था कि सुशील की जान पहचान बीआरसी में है। उसी का लाभ उठा कर वह उसकी मां की ड्यूटी बीएलओ में दूर लगवा कर परेशान किया करता है। इसी शक से ग्रसित विपिन कुमार सुशील से बदला लेने व सबक सिखाने की जिद पाल बैठा था। जिद को पूरा करने के लिए एसटीएफ का फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर उसे ब्लैकमेल करने का प्लान बनाया।

अपने प्लान को अंजाम देने के लिए यू-ट्यूब से आईपीएस अधिकारी वर्दी, बैच, बिल्ला आदि की जानकारी किया। फिर आईपीएस की वर्दी सिलवा कर उसमें बैच व बिल्ला लगाकर पहन लिया था। फर्जी आईपीएस बनकर किराए पर एक इनोवा कार लिया। फिर इसी गाड़ी से वह ड्राइवर संग आठ अक्टूबर को सहायक अध्यापक सुशील कुमार सिंह की शिक्षा मित्र के रूप में प्रथम नियुक्ति वाले प्राथमिक विद्यालय परसिद्धपुर धाता जनपद फतेहपुर पहुंच गया। इस विद्यालय में वह सहायक अध्यापक राजेश सिंह से वर्ष 2006 से 2019 तक के अध्यापकों की उपस्थिति रजिस्टर की छायाप्रति जांच के नाम पर कलेक्ट कर लिया। इतना ही नहीं रिसीविंग प्रपत्र पर हस्ताक्षर करते हुए खुद का नाम फर्जी नाम रवीन्द्र कुमार पटेल आईपीएस अधिकारी एसटीएफ ब्रांच लखनऊ उत्तर प्रदेश 2062 लिखा।

इसी तरह फर्जी आईपीएस बनकर शिक्षा विभाग के विभिन्न दफ्तरों से सहायक अध्यापक सुशील कुमार सिंह के तमाम शैक्षणिक दस्तावेजों को प्राप्त कर लिया। इसके बाद जांच के नाम पर सहायक अध्यापक सुशील कुमार सिंह व राजेश सिंह को ब्लैक मेल करने की जुगत में लग गया। ठगी के इरादे से दोनों सहायक शिक्षकों को हाईकोर्ट के पास हनुमान मंदिर चौराहे पर मिलने के लिए बुलाया था। वह जैसे ही हाईकोर्ट हनुमान मंदिर चौराहा पहुंचा गिरफ्तार कर लिया गया।

दरअसल भुक्तभोगी सुशील सिंह ने पुलिस से शिकायत की थी। इसी शिकायत के आधार पर प्रयागराज सिविल लाइंस इलाके के अंबेडकर मूर्ति चौराहे के पास से आरोपी विपिन चौधरी को एसटीएफ ने वर्दी पहने हुए अरेस्ट कर लिया है। पकड़े गए नकली आईपीएस ऑफिसर के पास से मोबाइल फोन और शिक्षा विभाग से जुड़े कुछ कागजात बरामद हुए हैं।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!