Saturday, December 4, 2021
ताजा खबरमनोरंजन

अमिताभ बच्चन ने छोड़ा कमला पसंद का विज्ञापन

मुंबई। अमिताभ बच्चन आज अपना 79वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस मौके पर उन्होंने एक ब्लॉग लिखकर अपने सभी फैंस से कहा है कि उन्होंने ‘कमला पसंद’ के साथ अपने करार को खत्म कर दिया है। अमिताभ को एक राष्ट्रीय तंबाकू विरोधी संगठन द्वारा विज्ञापन अभियान से खुद को वापस लेने का अनुरोध किया गया था।

नेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर इराडिकेशन ऑफ टोबैको के अध्यक्ष डॉ. शेखर साल्कर ने भी अमिताभ बच्चन को एक खुला पत्र लिखा था। उन्होंने कहा था कि मेडिकल रिसर्च के अनुसार तंबाकू और पान मसाला से स्वास्थ्य को बहुत नुकसान पहुंचता है। अमिताभ बच्चन तो सरकार के पोलियो कैंपेन के ब्रांड एम्बेसडर हैं। ऐसे में उन्हें कमला पसंद जैसे पान मसाला के विज्ञापन से हट जाना चाहिए। अनुरोध में कहा गया कि यह युवाओं को तंबाकू का आदी बनने से रोकेगा। फैंस भी इसकी आलोचना कर रहे थे।

अब अमिताभ बच्चन की तरफ से एक आधिकारिक बयान जारी किया गया है, जिसमें बताया गया है कि अमिताभ ने इस ब्रैंड से खुद को अलग कर लिया है। अमिताभ ने ब्लॉग में लिखा है- ‘मैंने पान मसाला ब्रांड कमला पसंद के साथ अनुबंध समाप्त कर दिया है। फीस वापस लौटा दी है। अमिताभ बच्चन ने ये भी बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि यह सरोगेट विज्ञापन के अंतर्गत आता है।’

दरअसल, बिग बी ने यह कदम विज्ञापन के ऑन एयर होने के कुछ समय बाद उठाया क्योंकि उसे लेकर काफी विरोध हो रहा था। हाल ही में अमिताभ बच्चन ने रणवीर सिंह के साथ कमला पसंद पान मसाला का विज्ञापन किया, जिसके चलते उन्हें ट्रोल किया गया। दरअसल, अमिताभ बच्चन ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा था, ‘एक घड़ी खरीदकर हाथ में क्या बांध ली, वक्त पीछे ही पड़ गया मेरे।’ उ

नके इस पोस्ट पर उनके फैंस ने खूब कमेंट किए, लेकिन एक यूजर ने तीखी बात लिख दी। यूजर ने लिखा, ‘प्रणाम सर, सिर्फ एक बात पूछनी है आपसे क्या जरूरत है कि आपको भी कमला पसंद पान मसाले का विज्ञापन करना पड़ा? फिर क्या फर्क है आप में और इन टटपुंजियों में?’

अमिताभ बच्चन ने यूजर के सवाल पर जवाब देते हुए लिखा, ‘मान्यवर, क्षमा प्रार्थी हूं, किसी भी व्यवसाय में यदि किसी का भला हो रहा है, तो ये नहीं सोचना चाहिए कि हम उसके साथ क्यों जुड़ रहे हैं। हां यदि व्यवसाय है तो उसमें हमें भी अपने व्यवसाय के बारे में सोचना पड़ता है। अब आपको ये लग रहा है कि मुझे ये नहीं करना चाहिए था, लेकिन इसको करने से, हां मुझे भी धनराशि मिलती है, लेकिन हमारे इंडस्ट्री में जो बहुत से लोग काम कर रहे हैं। जो कि कर्मचारी हैं, उनको भी काम मिलता है और धन भी। मान्यवर टटपूंजिया शब्द आपके मुख से शोभा नहीं देता और न ही हमारी इंडस्ट्री के अन्य कलाकारों को भी शोभित करता है। आदर सहित नमस्कार करता हूं।’

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!