Friday, December 3, 2021
ताजा खबरमेरा गाज़ियाबाद

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस: अपनी प्रतिभा की बदौलत गाजियाबाद का मान बढा रही हैं वारालिक सिंह, अब राष्ट्रीय बाल शक्ति पुरस्कार के लिए नामांकित

गाजियाबाद। अभी नवरात्रि में मातृशक्ति की उपासना की जा रही है। इस आदिशक्ति का ही एक रूप हैं बेटियां, जिन्होंने अपनी प्रतिभा और उपलब्धियों से न सिर्फ अपने परिवार का बल्कि देश का भी मान बढ़ाया है। इन्होंने साबित किया कि अगर इन्हें अवसर दिया जाए, तो ये सफलता के शिखर को छू सकती हैं। ऐसी ही गाजियाबाद की एक बेटी है, वारालिक सिंह। उनका नाम राष्ट्रीय बाल शक्ति पुरस्कार के लिए भेजा गया है।

वारालिक सिंह जनपद के डीपीएस स्कूल में कक्षा 12वीं की छात्रा हैं। वारालिका सिंह ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की इंस्टीट्यूशनल एचओडी डा.स्मिता सिंह की बेटी हैं। उनके पिता मकरंद प्रताप सिंह सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता हैं। अधिकारी मां और एडवोकेट पिता की संतान वारालिका बचपन से प्रतिभाशाली और विलक्षण प्रतिभा की धनी रही है। वर्ष 2020-21 में वारलिका को UNESCO, नई दिल्ली द्वारा निबंध प्रतियोगिता में स्वतंत्र लेखिका के रूप में सम्मानित किया गया।

वारालिका सिंह अब तक शिक्षा, समाज सेवा में एक दर्जन मैडल जीत चुकी है जिसमें 6, गोल्ड व 4 सिल्वर मैडल है। इसके अलावा 29 पदक राज्य एथिलेटिक प्रतियोगिता में जीत चुकी है। वारालिका ने 2020 वर्ष में यूएन कांफ्रेंस में अपने कालेज का प्रतिनिधित्व भी किया है गत वर्ष 2019 में वह स्कूल की ओर से एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत अमेरिका के डेलिस गई, जहां उन्होंने 10 दिन रहकर वहां स्कूल अटेंड करने के साथ वहां स्कूली बच्चों के घर भी रहीं।

यूपीएसआइडीसी गाजियाबाद की पूर्व क्षेत्रीय प्रबंधक स्मिता सिंह की बेटी वारालिका सिंह को पेंटिग बनाने, किताब लेखन, कविता लेखन का शौक हैं। इसके बाद माडर्न यूनाइटेड नेशनल (एमयूएन) कोर्नेल यूनिवर्सिटी न्यूयार्क में स्कूली बच्चों में उन्होंने भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। वारालिका नेशनल एथलीट भी हैं और तिरुपति में आयोजित नेशनल थ्रो शॉटपुट में प्रतिभाग कर चुकी।

कोविड-19 को लेकर वारालिका के दो लेख भी यूनेस्को के जर्नल में प्रकाशित हो चुके हैं। राष्ट्रीय खेलों में दो बार उत्तर प्रदेश का नेतृत्व कर चुकी हैं। समाज सेवा में भी इनकी काफी रूचि है महिलाओं के लिए अक्सर काम करती रहती है। इसके अलावा कोरोना काल में गरीब व भूखे लोगों को भोजन कराने का भी कार्य किया है। 

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!