Sunday, November 28, 2021
अंतर्राष्ट्रीयताजा खबर

फ्रांस: 70 साल में चर्च में 3.30 लाख बच्चे हुए यौन शोषण का शिकार

फ्रांस की चर्च में यौन शोषण की जांच कर रहे एक स्वतंत्र आयोग का मानना ​​है कि पिछले 70 सालों में कैथोलिक चर्च में करीब 3.3 लाख बच्चे यौन शोषण का शिकार हुए हैं। रिपोर्ट जारी करने वाले आयोग के अध्यक्ष जीन मार्क सॉवे का मानना है कि इसमें 80 फीसद पीड़ित पुरुष हैं। यौन शोषण से पीड़ित करीब 60 फीसद लोगों को जीवन में और यौन जीवन में समस्याओं का सामना करना पड़ा है।

फ्रेंच इंस्टीट्यूट ऑफ एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (एफआईएएस) और चर्च के अपराधों की जांच के लिए गठित आयोग के अध्यक्ष ज्यां-मार्क सॉवे ने ने 2500 पन्नों का यह दस्तावेज तैयार किया है। 2.5 साल तक काम करके आयोग ने 2.5 हजार पेज की डॉक्यूमेंट तैयार की है जिसके केंद्र में कैथोलिक चर्च है। रिपोर्ट 1950 के दशक से चर्च, अदालत, पुलिस और प्रेस आर्काइव की स्टडी करके बनाई गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रांस की कैथोलिक चर्चों में काम करने वाले तीन हजार से ज्यादा पादरी, धर्मगुरु और अन्य कर्मी पिछले सात दशकों से नाबालिगों के शोषण में शामिल रहे। इस दौरान चर्च के बड़े अधिकारी गुपचुप तरीके से इन कारगुजारियों पर पर्दा भी डालते रहे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले 70 सालों में जिन 3.30 लाख बच्चों का यौन शोषण हुआ, उनमें 2 लाख 16 हजार से ज्यादा बच्चों का उत्पीड़न चर्च के पादरियों और दूसरे धर्मगुरुओं ने किया। यानी कुल मामलों में दो-तिहाई में चर्च के पुजारी ही आरोपी पाए गए, जबकि 1 लाख 14 हजार मामलों में चर्च में काम करने वाले अन्य कर्मी यौन उत्पीड़न के आरोपी के तौर पर सामने आए। जांच की शुरुआत में शुरू किए गए एक हॉटलाइन को कथित पीड़ितों या ऐसे लोगों से 6,500 कॉल मिले जिन्होंने कहा कि वे एक पीड़ित को जानते हैं।

इस रिपोर्ट को जारी करते हिए कहा कि चर्च को बाल यौन शोषण की इस संस्कृति के खिलाफ कठोर कार्रवाई करनी चाहिए और इन गलतियों और चुप्पियों की निंदा करनी चाहिए। आयोग ने फ्रांस सरकार से पीड़ितों को मुआवजा देकर उनकी मदद करने की अपील की। खासकर उन मामलों में जहां ज्यादा उम्र के चलते आरोपियों पर कोर्ट के जरिए अभियोजन चलाना मुश्किल हो।

सॉवे ने कहा कि 22 कथित अपराध जिन्हें अभी भी आगे बढ़ाया जा सकता है, उन्हें अभियोजकों को भेज दिया गया है। 40 से अधिक मामले जो कि मुकदमा चलाने के लिए बहुत पुराने हैं, लेकिन कथित अपराधियों को शामिल करते हैं जो अभी भी जीवित हैं, उन्हें चर्च के अधिकारियों को भेज दिया गया है। आयोग ने इस तरह के दुरुपयोग को रोकने के तरीके के बारे में आयोग ने 45 सिफारिश की हैं।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!