Tuesday, November 30, 2021
एनसीआरख़बरें राज्यों सेताजा खबरधार्मिकनागरिक मुद्देराजनीतिराष्ट्रीयविशेष रिपोर्ट

Case on Owaisi: भड़काऊ भाषण और सांप्रदायिक सद्भावना बिगाड़ने का आरोप, बिना परमिशन रैली, बाराबंकी में असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ केस

पढ़िये  नवभारत टाइम्स की ये खास खबर….

बाराबंकी एसपी ने बताया कि ओवैसी ने अपनी रैली में दावा किया कि जिला प्रशासन ने राम सनेही घाट पर बनी 100 साल पुरानी मस्जिद तुड़वा दी। इसके अलावा उसका मलबा भी पूरी तरह हटा दिया गया। यह बयान उनका पूरी तरह से गलत था।

हाइलाइट्स

  • कटरा बारादरी में ओवैसी ने गुरुवार को की थी रैली
  • प्रशासन ने जनसभी करने की नहीं दी थी अनुमति
  • रैली में ओवैसी ने कहीं कई भड़काऊ बातें, वीडियो भी वायरल
  • औवैसी ने पीएम और सीएम पर भी आपत्तिजनक टिप्पणियां कीं

बाराबंकी
यूपी के बाराबंकी में ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उनके ऊपर बिना अनुमति कोविड प्रोटोकॉल तोड़कर जनसभा करने, सांप्रदायिक सद्भावनाओं को भड़काने और सीएम (योगी आदित्यनाथ), पीएम (नरेंद्र मोदी) के खिलाफ आपत्तिजनक भाषाओं का इस्तेमाल करने के आरोप लगे हैं।

ओवैसी के खिलाफ नगर कोतवाली में केस दर्ज किया गया है। ओवैसी ने गुरुवार को कटरा बारादरी स्थित इमामबाड़े में जनसभा की थी। उनके ऊपर भड़काऊ और नफरत फैलाने वाला भाषण देने का आरोप है।

प्रशासन ने नहीं दी थी जनसभा की अनुमति
एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि ओवैसी की ओर से जनसभा करने की अनुमति प्रशासन से मांगी गई थी, लेकिन कोविड प्रोटोकॉल के चलते उन्हें जनसभा करने की अनुमति नहीं दी गई थी। बिना परमिशन उन्होंने जनसभा की। उनके ऊपर कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने का आरोप है।

प्रशासन पर 100 साल पुरानी मस्जिद गुपचुप तुड़वाने का लगाया था आरोप
कोविड प्रोटोकॉल तोड़ने के अलावा ओवैसी ने भड़काऊ भाषण दिया। एसपी ने बताया कि उन्होंने कहा कि बाराबंकी जिला प्रशासन ने राम सनेही घाट पर बनी एक सौ साल पुरानी मस्जिद तुड़वा दी। इसके अलावा उसका मलबा भी पूरी तरह हटा दिया गया। यह बयान उनका पूरी तरह से गलत था और उन्होंने एक कौम को भड़काने का और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया।

इन धाराओं पर दर्ज हुआ केस
इसी के साथ ही पीएम और सीएम के खिलाफ भी ओवैसी ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया। इस मामले को लेकर ओवैसी और उनके आयोजन मंडल पर धारा 732/21, धारा 153 ए, 188, 269, 270 के तहत केस दर्ज किया गया है।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!