Tuesday, November 30, 2021
अपराधताजा खबरराजनीतिराष्ट्रीयविशेष रिपोर्टसामाजिक

ममता बनर्जी के रूप में ‘माँ दुर्गा’ की बन रही मूर्ति: बंगाल हिंसा को देखते हुए भड़के लोग, सोशल मीडिया पर सुनाई खरी-खोटी

पढ़िये ऑपइंडिया की ये खास खबर….

दुर्गा पूजा को आने में अब बस कुछ ही समय बचा है और इस बार कोलकाता के लोग दुर्गा माता को नए और अनोखे रूप में देखेंगे। कोलकाता के कुमारतुली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति बनाई जा रही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जैसी माँ दुर्गा की मूर्ति बनाने के लिए 3 समितियों ने सहयोग किया है। हालिया बंगाल हुई हिंसा को देखते हुए सोशल मीडिया पर लोग तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

नज़रूल पार्क उन्नयन समिति के उपाध्यक्ष पार्थ सरकार ने कहा, “बंगाल में हर व्यक्ति उन्हें देवी दुर्गा के रूप में मानता है। उन्होंने लोगों को जो लाभ प्रदान किया, वह दुनिया में नहीं देखा गया।”

सोशल मीडिया यूजर्स इस पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएँ दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, “माँ का अपमान नहीं चलेगा।”

वहीं एक अन्य ने लिखा, “भूतनी जैसी शक्ल है तो क्या हुआ, मेरी मूर्ति नहीं बन सकती।” एक यूजर ने पश्चिम बंगाल को नया तालिबान बताया।

एक ट्विटर यूजर ने लिखा, “देवी की मुख्यमंत्री से तुलना करना बिलकुल मूर्खतापूर्ण है? यहाँ तक कि उन्हें किसी को ऐसा नहीं करने देना चाहिए।”

एक अन्य नेटिजन ने लिखा, “कृपया कोई उन जोकरों पर ईशनिंदा का मामला दर्ज करे, यह मेरे भगवान को बंगाल का कसाई बताकर धार्मिक भावनाओं को आहत करने से कम नहीं है।”

एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा, “कृपया इस तरह हिंदू देवी-देवताओं और त्योहारों का अपमान करना बंद करें। यह बहुत ज्यादा है। कृपया इसे बंद करें। राक्षसों की मूर्तियाँ ममता बनर्जी जैसी बनानी चाहिए, देवी की नहीं।”

मनोज नाथ नाम के यूजर ने लिखा, “भगवान से डरो बेइमानों…माँ दुर्गा का अपमान करने में भी नहीं झुके तुमलोग।”

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के कुछ समय बाद ही दो मई को कथित तौर पर तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सरकार की गला दबाकर हत्या कर दी थी। पश्चिम बंगाल में चुनावी नतीजे आने के कुछ घंटे बाद राज्य के कई इलाकों में राजनीतिक हिंसा भड़की थी। इस हिंसा में खासकर बीजेपी समर्थक निशाने पर थे। तब से लेकर अब तक ये संख्या सैकड़ों में बताई जाती है।

अभिजीत सरकार की दो मई को उनके घर से बाहर घसीट कर हत्या कर दी गई थी। हमले से ठीक पहले वे दो बार फेसबुक पर लाइव हुए थे और टीएमसी गुंडों के हमले को लेकर बताया था। अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव के माध्यम से अपनी बात रखी थी। उन्हें पता भी नहीं था कि फेसबुक पर लाइव कैसे आते हैं, लेकिन उन्होंने किसी तरह वीडियो बनाया और बताया कि TMC के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे हैं और उन्होंने उनके घर और दफ्तर को तहस-नहस कर डाला।

मई में अभिजीत सरकार की पत्नी, जो उनकी हत्या की चश्मदीद भी हैं, ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था, “भीड़ ने उनके गले में सीसीटीवी कैमरे का तार बाँध दिया। गला दबाया। ईंट और डंडों से पीटा। सिर फाड़ दिया और माँ के सामने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी। आँखों के सामने बेटे की हत्या होते देख उनकी माँ बेहोश होकर मौके पर ही गिर गईं।”

हिंसा के मामले में कोलकाता हाई कोर्ट के आदेश के बाद केंद्रीय जाँच ब्यूरो (CBI) ने मंगलवार (1 सितंबर, 2021) को 10 नए केस दर्ज किए। इसके साथ ही सीबीआई द्वारा दर्ज मामलों की संख्या बढ़कर 31 हो गई है।

साभार-ऑपइंडिया

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!