डाक्टर-इंजीनियर और सीए पर नेजल कोवैक्सीन का ट्रायल, कानपुर में पहले दिन आए 30 वालंटियर्स

पढ़िये दैनिक जागरण की ये खास खबर….

कानपुर में आर्य नगर स्थित निजी अस्पताल में नेजल कोवैक्सीन के ट्रायल के लिए लोग पहुंच रहे हैं। पहले दिन 30 वालंटियर्स पर नेजल वैक्सीन का डोज देकर ट्रायल पूरा किया गया। अब दूसरी डोज 28 दिन बाद दी जाएगी।

कानपुर, जेएनएन। देश के पांच सेंटरों पर मंगलवार को नेजल कोवैक्सीन (नाक में डालने वाली दवा) का वालंटियर्स पर ट्रायल शुरू हो गया। शहर के प्रखर हास्पिटल आर्यनगर में पहले दिन ही 30 वालंटियर्स पर नेजल कोवैक्सीन का ट्रायल पूरा हो गया। ट्रायल के लिए डाक्टर, इंजीनियर एवं चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) तक वालंटियर्स बने हैैं।

नेजल कोवैक्सीन के फेज-टू ट्रायल के पहले दिन मंगलवार सुबह से प्रखर हास्पिटल में भीड़ जुटने लगी थी। फेज टू ट्रायल की निगरानी के लिए इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) नई दिल्ली और हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक इंटरनेशनल के पर्यवेक्षक आए थे। दूसरे चरण के ट्रायल के तहत सबसे पहले वालंटिसयर्स का पांच-पांच एमएल ब्लड और यूरिन का सैंपल लिया गया। सैंपल जांच के लिए पूणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलाजी (एनएवी) भेजा गया। वैक्सीन ट्रायल के चीफ गाइड प्रो.जेएस कुशवाहा ने माल रोड निवासी 21 वर्षीय युवती को नेजल कोवैक्सीन की दो-दो बूंद उनकी नाक के दोनों नथुनों में डालीं। पांच मिनट बाद फिर से वही प्रकिया अपनाई गई। आधा घंटे तक उन्हें निगरानी में रखा गया। उसके बाद उन्हें घर जाने की अनुमति दी गई। पहले दिन सभी 30 वालंटियर्स पर ट्रायल पूरा हुआ। अब इन वालंटियर्स पर नेजल वैक्सीन की दूसरी डोज का ट्रायल 28 दिन बाद होगा।

ऐसे करेंगे एंटीबाडी चेक : ट्रायल में शामिल वालंटियर्स के सैंपल 56 दिन, 90 दिन और 180 दिन बाद क्रमश: लिए जाएंगे। उसमें स्लाइवा (लार) और ब्लड सैंपल लेंगे। उसमें एंटीबाडी की जांच की जाएगी। यह देखा जाएगा कि कोरोना वायरस के खिलाफ कितनी एंटीबाडी इस क्रम में बन रही है।

इन केंद्रों पर हुआ ट्रायल : प्रखर हास्पिटल के अलावा अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली व एम्स पटना, आंध्र प्रदेश के हैदराबाद के निजाम इंस्टीट्यूट और कर्नाटक के बेलगाम मेडिकल कालेज में ट्रायल शुरू हुआ है।

पहले दिन ट्रायल को लेकर लोगों में उत्साह दिखा। पहले दिन नौ वालंटियर्स पर ट्रायल का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने पर एक ही दिन में ट्रायल पूरा हो गया। उत्साह को देखते हुए दिल्ली और पूणे से आए पर्यवेक्षक ने ऊपर बात करने के बाद 20 और वालंटियर्स पर ट्रायल की अनुमति दी है। पहले दिन ट्रायल में डाक्टर, इंजीनियर, सीए एवं व्यापारी बतौर वालंटियर्स शामिल हुए। – प्रो. जेएस कुशवाहा, चीफ गाइड, नेजल कोवैक्सीन ट्रायल, प्रखर हास्पिटल। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Discussion about this post

  • Trending
  • Comments
  • Latest

Recent News

error: Content is protected !!