Tuesday, November 30, 2021
अपराधएनसीआरख़बरें राज्यों सेताजा खबरनागरिक मुद्देविशेष रिपोर्ट

अपराधियों पर कस रहा योगी सरकार का शिकंजा:यूपी से फरार घोटालेबाजों को लंदन से पकड़कर लाएगी पुलिस, पहली बार प्रदेश सरकार ने शुरू की प्रत्यर्पण की कार्यवाही

पढ़िये दैनिक भास्कर  की ये खास खबर….

देश छोड़कर भागने की फिराक में तीन आरोपियों को एयरपोर्ट पर रोका, ईओडब्ल्यू के इतिहास में पहली बार 16 आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस, बाइक बोट घोटाले के एक आरोपी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपराधियों पर भारी पड़ रही है। धान खरीद के मामले में निवेशकों का करोड़ो रूपए हड़पकर देश छोड़कर भागे आरोपियों को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्हें यूपी लाने के लिए पहली बार प्रदेश सरकार प्रत्यर्पण की कार्यवाही कर रही है। इसके अलावा आर्थिक अपराध शाखा (EOW) के इतिहास में पहली बार 16 आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस और बाइक बोट घोटाले के एक आरोपी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी किया गया है। इनकी गिरफ्तारी के लिए तेजी से प्रयास हो रहे हैं।

साढ़े छह सौ विवेचनाओं को किया गया निस्तारित

प्रदेश में भ्रष्टाचारियों के खिलाफ सरकार सख्त कदम उठा रही है। गृह विभाग के सूत्रों के अनुसार पिछले कुछ सालों में भ्रष्टाचार और अनियमितता के करीब साढ़े छह सौ विवेचनाओं को निस्तारित किया गया है। इसमें ईओडब्ल्यू ने बीजेपी की इस सरकार में वर्ष 2017 में 74, 2018 में 175, 2019 में 239, 2020 में कोरोना काल के बावजूद 100 और 2021 में जून तक 52 मामलों का निस्तारण किया गया है। इस दौरान ईओडब्ल्यू की जांच में सरकारी और गैर सरकारी 352 भ्रष्टाचारियों की पुष्टि हुई है।

इसमें 175 सरकारी अधिकारी और कर्मचारी, निजी संस्थाओं के 177 आरोपी भ्रष्ट मिले हैं, जिनमें 45 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही भ्रष्टाचार, गंभीर प्रशासनिक, वित्तीय अनियमितताओं के दोषी दो अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही करने के लिए संस्तुति शासन को भी भेजी गई है।

371 आरोपियों के खिलाफ कानून कार्रवाई की स्वीकृति

गृह विभाग के अनुसार शासन की ओर से सवा चार साल में करीब साढ़े सात सौ मामलों की जांच ईओडब्ल्यू को दी गई है। इसमें 371 आरोपियों के खिलाफ कानून कार्यवाही की स्वीकृति भी दी गई है। सीएम योगी के निर्देश पर ईओडब्ल्यू की जांच में और तेजी लाने के लिए लखनऊ, कानपुर, मेरठ और वाराणसी में अलग से थाने खोले गए हैं। अब इन थानों में ही मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। सरकार की ओर से दो नए भवन बनाने के लिए करीब सवा तीन करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। जल्द ही इनका निर्माण शुरू होने वाला है।

बाइक बोट घोटाले के आरोपी बिजेंद्र हुड्डा की जड़ें खंगाल रहा EOW

ईओडब्ल्यू के एक अधिकारी ने बताया कि जिन 16 आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। उनमें से तीन आरोपियों को अलग-अलग एयरपोर्ट पर रोका गया और उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही शुरू की गई। बाइक बोट घोटाले के आरोपी बिजेंद्र हुड्डा के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने सीबीआई से बातचीत कर रेड कार्नर नोटिस जारी किया है। अब उसकी जड़ें खंगाली जा रही हैं।

बुश फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों द्वारा एक करोड़ 76 लाख की धान खरीद में आरोपी वीर करन अवस्थी और रितिका अवस्थी के खिलाफ यूनाइटेड किंगडम (यूके) से प्रत्यर्पण की कार्यवाही कराई गई और आरोपियों को लंदन में गिरफ्तार किया गया। आरोपियों को लाने के लिए यूके के कोर्ट में मामला विचाराधीन है। साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!