कोरोना काल में बढ़ी मानसिक दिक्कतें, किशोर वर्ग पर किए गए अध्ययन का दावा

पढ़िये दैनिक जागरण की ये खास खबर….

कनाडा के कैलगरी विश्वविद्यालय द्वारा किए गए अध्ययन से पता चला है कि कोरोना काल के दौरान बच्चों और किशोरों में मानसिक दिक्कतें बढ़ी हैं। यह अध्ययन दुनियाभर के 29 अलग-अलग शोध से एकत्र किए गए डाटा पर आधारित है जिसमें 80879 किशोरों को भी शामिल किया गया था।

ओटावा, आएएनएस। कोरोना संक्रमण से शारीरिक स्वास्थ्य के अलावा मानसिक स्वास्थ्य पर भी गहरा असर हुआ है। कनाडा की एक यूनिवर्सिटी में 80 हजार से अधिक किशोरों पर किए गए एक अध्ययन का दावा है कि कोरोना काल में बच्चों व किशोरों के मन पर गहरा प्रभाव हुआ है जिसके कारण इनमें मानसिक समस्याएं देखी जा रहीं हैं।

कनाडा के कैलगरी विश्वविद्यालय द्वारा किए गए अध्ययन से पता चला है कि कोरोना काल के दौरान बच्चों और किशोरों में मानसिक दिक्कतें बढ़ी हैं। यह अध्ययन दुनियाभर के 29 अलग-अलग शोध से एकत्र किए गए डाटा पर आधारित है, जिसमें 80,879 किशोरों को भी शामिल किया गया था। मेडिकल जर्नल जेएएमए पीडियाट्रिक्स में प्रकाशित निष्कर्षो के आधार पर ऐसा अनुमान लगाया गया है कि वैश्विक स्तर पर चार में से एक किशोर जहां डिप्रेशन या अवसाद की समस्या से जूझ रहा है वहीं पांच में से एक किशोर में एंजाइटी के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं।

यूनिवर्सिटी के क्लीनिकल साइकोलाजिस्ट और शोध के प्रमुख लेखक डा. निकोल रेसिन के मुताबिक सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि समय के साथ यह लक्षण बढ़ते जाते हैं। मेटा विश्लेषण में पूर्वी एशिया के 16, यूरोप के चार, उत्तरी अमेरिका के छह, मध्य और दक्षिण अमेरिका से दो-दो और पश्चिम एशिया से दो अध्ययनों को शामिल किया गया है। इस विश्लेषण से यह भी पता चलता है कि अधिक उम्र वाले किशोर और लड़कियों में अवसाद और चिंता के लक्षण ज्यादा दिखाई देते हैं।

विश्वविद्यालय की क्लीनिकल साइकोलाजिस्ट डा. शेरी मैडिगन के मुताबिक बच्चों और किशोरों में मानसिक दिक्कतों की एक बड़ी वजह प्रतिबंधों और लाकडाउन के चलते उनका सामाजिक रूप से पूरी तरह कट जाना है। यह भी देखा जाता है कि अगर प्रतिबंध बढ़ाए जाते हैं तो इस तरह की दिक्कतों में इजाफा होता है। मैडिगन ने कहा कि बच्चों और किशोरों को इन मानसिक दिक्कतों से निकालने के लिए हम तत्काल कदम उठाने पड़ेंगे। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Discussion about this post

  • Trending
  • Comments
  • Latest

Recent News

error: Content is protected !!