अंग्रेजों के समय के कानूनों में बदलाव की मांग को लेकर हुए प्रदर्शन के दौरान हुआ था भड़काऊ भाषण, छह लोगों पर मुकदमा

पढ़िये एबीपी न्यूज़ की ये खास खबर….

अंग्रेजों के जमाने के पुराने कानूनों में बदलाव की मांग को लेकर गत रविवार को जंतर-मंतर स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के पास आयोजित कार्यक्रम में लोगों ने भड़काऊ नारेबाजी की थी। इसके बाद एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था जिस पर पुलिस ने एक्शन लिया है।

नई दिल्ली। भड़काऊ नारेबाजी मामले में कनाट प्लेस थाना पुलिस ने भाजपा के पूर्व प्रवक्ता व सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय समेत छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। अंग्रेजों के जमाने के पुराने कानूनों में बदलाव की मांग को लेकर गत रविवार को जंतर-मंतर स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के पास आयोजित कार्यक्रम में लोगों ने भड़काऊ नारेबाजी की थी। इंटरनेट मीडिया में आपत्तिजनक नारेबाजी संबंधी वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने सोमवार को स्वत: संज्ञान लेकर पहले अज्ञात के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया था। मंगलवार को इन्हें जांच में शामिल होने के लिए कनाट प्लेस थाने बुलाकर पूछताछ के बाद दोपहर को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

डीसीपी नई दिल्ली जिला दीपक यादव के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम अश्विनी उपाध्याय, प्रीत सिंह, दीपक सिंह, दीपक कुमार, विनोद शर्मा व विनीत बाजपेयी है। उल्लेखनीय है कि अंग्रेजों के जमाने के पुराने कानूनों में बदलाव की मांग को लेकर रविवार को जंतर-मंतर पर आयोजित कार्यक्रम में 1860 में बने इंडियन पैनल कोड, 1861 में बने पुलिस एक्ट, 1863 में बने रिलिजियस एंडोनमेंट एक्ट और 1872 में बने एविडेंस एक्ट सहित सभी 222 अंग्रेजी कानूनों को खत्म करने तथा भारत में समान शिक्षा, समान चिकित्सा, समान कर संहिता, समान दंड संहिता, समान श्रम संहिता, समान पुलिस संहिता, समान न्यायिक संहिता, समान नागरिक संहिता, समान धर्मस्थल संहिता और समान जनसंख्या संहिता लागू करने की मांग की गई।

वक्ताओं का कहना था कि घटिया और बेकार अंग्रेजी कानून जबतक खत्म नहीं होंगे जातिवाद भाषावाद, क्षेत्रवाद, अलगाववाद कट्टरवाद, मजहबी, उन्माद, माओवाद, नक्सलवाद, तुष्टीकरण और राजनीति का अपराधीकरण खत्म नहीं होगा। जब तक घटिया अंग्रेजी कानून खत्म नहीं होंगे तब तक चोरी, लूटपाट, झपटमारी, घूसखोरी जमाखोरी, मिलावटखोरी, कालाबाजारी, कमीशनखोरी, मुनाफाखोरी मानव तस्करी, नशा तस्करी, चंदन तस्करी, हवाला कारोबार कालाधन और बेनामी संपत्ति कम नहीं होगी।

अंग्रेजों ने भ्रष्टाचार और अपराध कम करने तथा भारत के लोगों को न्याय देने के लिए नहीं बल्कि अपनी सत्ता को मजबूत करने के लिए घटिया कानून बनाया। कार्यक्रम में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी डॉक्टर आनंद कुमार, वरिष्ठ नौकरशाह आर वी एस मणि, लेफ्टिनेंट जनरल विष्णु कांत चतुर्वेदी, सामाजिक कार्यकर्ता भाई प्रीत सिंह और अनिल चौधरी, कालका पीठाधीश्वर महंत सुरेंद्र नाथ और महाभारत में युधिष्ठिर का किरदार निभाने वाले गजेंद्र चौहान मंच पर उपस्थित थे। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Discussion about this post

  • Trending
  • Comments
  • Latest

Recent News

error: Content is protected !!