एनसीआरख़बरें राज्यों सेनगर निगमनागरिक मुद्दे

एकजुट होकर आवाज बुलंद नहीं कर पा रहे एक्सटेंशन के लोग

पढ़िए दैनिक जागरण ये खबर…

जासं, गाजियाबाद : राजनगर एक्सटेंशन गाजियाबाद के महत्वपूर्ण इलाके में से एक है, जो शहर के विकास की तस्वीर पेश करता है। यहां पर मिग्सन और मोती रेजिडेंसी के पास डलाव घर बनाने से लोग परेशान हैं और विरोध भी कर रहे हैं। लेकिन विरोध में एकजुटता नहीं है। विरोध केवल इंटरनेट मीडिया पर ही सीमित होकर रह जाता है। यहां पर अलग-अलग संगठन बने हैं, जो समस्या के समाधान के बजाय आपसी राजनीति में उलझे हुए हैं। लिहाजा आम सोसायटी निवासी समस्याओं से जूझते रहते हैं।

एक दूसरे टांग खींचने से नहीं धुल रहे समस्या के दाग

राजनगर एक्सटेंशन में सोसायटियों की समस्याओं से खत्म कराने का दावा करने वाले कई संगठन बन गए हैं। लेकिन संगठन के लोग समस्या का समाधान कराने की बजाय एक दूसरे की टांग खींचने में व्यस्त हैं। एक्सटेंशन के दो महत्वपूर्ण संगठन के पदाधिकारी एक दूसरे की बुराई कर खुद को सही साबित करने में लगे रहते हैं। इससे आम लोगों का नुकसान होता है। समस्या का ठोस समाधान नहीं निकल पाता है। लोगों की समस्याएं संगठनों की आपसी खींचतान की भेंट चढ़ रही है।

डेढ़ लाख की आबादी परेशान राजनगर एक्सटेंशन में 45 से अधिक सोसायटी में डेढ़ लाख से ज्यादा लोग निवास करते हैं। नगर निगम ने राजनगर एक्सटेंशन में मिग्सन और मोती रेजिडेंसी के पास दो डलावघर बनाए हैं। यहां पर रोज दो दर्जन से ज्यादा ट्रक कूड़ा डाला जाता है। जो सोसायटी डलावघर के नजदीक हैं, उन्हें ज्यादा परेशानी हो रही है। बारिश होने पर कूड़ा सड़ने लगता है। ऐसे में हवा चलने पर बदबू से बचने के लिए सोसायटी निवासी फ्लैट के खिड़की-दरवाजे बंद कर लेते हैं। दोनों डलाव घर इस राजनगर एक्सटेंशन के विकास पर धब्बा हैं।

हमने कई बार मुख्यमंत्री, नगर निगम व जीडीए को चिट्ठी लिखी है। पोर्टल पर भी शिकायत की है। तीन बार नगर निगम के अफसरों से मिले हैं। अब हम एनजीटी में याचिका दायर करेंगे।

गजेंद्र आर्य, अध्यक्ष, फेडरेशन आफ एओए

—–

हम डलाव घर को हटाने के लिए नगर निगम में शिकायत कर चुके हैं। यदि डलाव घर नहीं हटाया जाता है तो हम धरना-प्रदर्शन करेंगे। लोगों की समस्या को खत्म कराना हमारे लिए अहम है।

सचिन त्यागी, महासचिव फेडरेशन आफ राजनगर एक्सटेंशन

—–

यहां से डलाव घर हटना चाहिए। हम इसका विरोध जारी रखेंगे। हमारा जीवन नर्क बना दिया है। टैक्स लेने के बाद भी निगम सुविधा नहीं दे रहा है।

दुष्यंत त्यागी, केडब्ल्यू सृष्टि

—–

सभी संगठनों को आपसी मनमुटाव को दूर कर आगे आना होगा। समस्याओं को दूर कराने के लिए एकजुटता दिखानी होगी। डलाव घर से एक्सटेंशन की तस्वीर खराब हो गई है।

नीतू सिंह, केडब्ल्यू सृष्टि

—-

मोती रेजिडेंसी के पास के डलाव घर को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। नगर निगम ने डलाव घर को शिफ्ट करने के लिए जगह तलाशना शुरू कर दी है।

डा. मिथिलेश कुमार, नगर स्वास्थ्य अधिकारी

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.