Tuesday, November 30, 2021
अपराधएनसीआरगाज़ियाबाद के गुनहगारताजा खबरमेरा गाज़ियाबाद

Ghaziabad News रहो सावधान! गाजियाबाद में 100 से 200 रुपये में बिक रहा 30 लोगों को डाटा, ठग इसका ही करते हैं इस्तेमाल

पढ़िये नवभारत टाइम्स की ये खास खबर….

गाजियाबाद। गाजियाबाद में खुद को इंश्योरेंस कंपनी से बताकर लोगों का डाटा इकट्ठा कर लगातार ठगी के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे ही गैंग को साइबर सेल ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। 10वीं पास युवक के गैंग से पुलिस को कई जानकारियां मिली हैं। उनके पास डाटा कैसे आता है, इस बारे में पुलिस को पता चला है।

सीओ साइबर सेल अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि गैंग का सदस्य प्रीतम फरार है। डाटा लेकर वही आता था। डाटा मिलने की प्रक्रिया की जानकारी हुई है। उसके आधार पर कंपनियों से भी उपभोक्ता प्राइवेसी के नियमों के बारे में जानकारी की जा रही है। इस प्रकार से लोगों की जानकारी ठगों तक पहुंचने में उनकी जिम्मेदारी भी बनती है। फरार आरोपित की गिरफ्तारी के बाद इसमें और भी जानकारी सामने आएंगी।

डाटा लेकर छोड़ी नौकरी
हाल के दिनों में इंश्योरेंस, क्रेडिट और बैंकिंग से जुड़े फ्रॉड में कंपनियों का डाटा उनके पूर्व कर्मचारियों द्वारा ही निकाला गया है। 10 हजार से ज्यादा लोगों से ठगी करने वाले गैंग का सदस्य इंश्योरेंस से जुड़ी कंपनी मे जॉब करता था। वह इस गैंग के साथ अन्य गैंग को भी डाटा देता था। हाल में उसने नौकरी छोड़कर हिस्सेदारी पर गैंग के साथ काम करना शुरू किया था। जांच में सामने आया है कि ऐसे कई गैंग हैं, जो इस प्रकार की कंपनियों में काम करने वाले लोगों को लालच देकर अपने साथ शामिल करते हैं, जिससे उन्हें बिना किसी दिक्कत के टारगेट का नाम, पता, मोबाइल नंबर समेत अन्य जानकारी मिल जाती है।

100 से 200 रुपये पर शीट के हिसाब से बिक जाता है डाटा
जानकारी के अनुसार, कंपनी मे जॉब करने वाले लोग भी इस डाटा को निकाल कर बेच देते हैं, इसमें एक शीट में करीब 30 लोगों की डिटेल दी जाती है। एक शीट की कीमत 100 से 200 रुपये के बीच होती है। बुधवार को गिरफ्तार हुए गैंग के पास से डाटा की 58 शीट मिली थीं। पुलिस सभी कड़ियों को जोड़ कर गैंग के अन्य सदस्यों के बारे में पता कर रही है।

इंश्योरेंस के नाम पर कॉल आए तो इन बातों का रखें ध्यान

  • -इंश्योरेंस कंपनी की तरफ से कॉल कर पॉलिसी मैच्योर या लेप्स होने की जानकारी नहीं दी जाती।
  • -अगर फिर भी कोई कंपनी से कॉल करता है तो उसे अपने एजेंसी या ऑफिस जाकर वैरिफाई करें।
  • -अनजान नंबर से आई कॉल के बाद कोई रुपये ट्रांसफर करने को कहे तो अलर्ट हो जाएं।
  • -किसी भी अनजान नंबर पर अपने डॉक्युमेंट की फोटो न भेजें, ठग उसका प्रयोग कर सकते हैं।
  • -इंश्योरेंस पॉलिसी के ऑफर कंपनी की वेबसाइट पर दिए होते हैं, इन्हें वहां भी चेक कर सकते हैं।

साभार नवभारत टाइम्स

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स मेंलिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!