Tuesday, November 30, 2021
एनसीआरख़बरें राज्यों सेताजा खबरनागरिक मुद्देमेरा गाज़ियाबादविशेष रिपोर्टशाबाश इंडिया

Ghaziabad news: क्राइम वेब सीरिज देखी…गूगल पर दिया नौकरी का ऐड और फिर महिला से लूट…देखें इंजिनियरिंग करने वाले छात्रों का कारनामा

पढ़िए नवभारत टाइम्स ये खबर…

​​सिहानी गेट थाना प्रभारी कृष्ण गोपाल शर्मा ने बताया कि आरोपियों के नाम शुभम और सैंकी हैं। दोनों मुरादनगर के एक कॉलेज में बीटेक सेकंड ईयर में पढ़ाई कर रहे हैं। उन्होंने 6 जून को दिल्ली के साकेत से जॉब लगवाने की बात कर एक महिला को बुलाया था।

गाजियाबाद। गूगल पर विज्ञापन देकर महिला को गाजियाबाद बुलाया और फिर लूटपाट करने के मामले में 2 बीटेक स्टूडेंट्स गिरफ्तार किए गए हैं। उनके पास से पुलिस ने एक तमंचा, स्विफ्ट कार, 11 हजार रुपये समेत अन्य सामान बरामद किया है।

सिहानी गेट थाना प्रभारी कृष्ण गोपाल शर्मा ने बताया कि आरोपियों के नाम शुभम और सैंकी हैं। दोनों मुरादनगर के एक कॉलेज में बीटेक सेकंड ईयर में पढ़ाई कर रहे हैं। उन्होंने 6 जून को दिल्ली के साकेत से जॉब लगवाने की बात कर एक महिला को बुलाया था।

इंजिनियरिंग कर रहे हैं छात्र
आरोपियों ने महिला को कार में बैठाकर उसके साथ गनपॉइंट पर लूटपाट की थी। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस दोनों की तलाश कर रही थी। हालांकि गिरफ्तारी से पहले अंदेशा नहीं था कि आरोपित इंजिनियरिंग के छात्र होंगे। अभी तक दोनों के द्वारा एक घटना के बारे में जानकारी मिली है। उनके पूछताछ जारी है।

कई लोगों से किया संपर्क

पूछताछ में सामने आया है कि शुभम और सैंकी दोनों ने कुछ समय पहले एक गूगल एड में कई प्रकार की जॉब की बात लिखी थी। इसके बाद इसी माध्यम से महिला से संपर्क हुआ तो उन्होंने उसे गाजियाबाद बुलाया। जहां उन्होंने उसे अपनी कार में बैठाया और मीटिंग में लेकर जाने की बात कही। रास्ते में उसके साथ लूटपाट की।

किराए की कार लेकर वारदात को अंजाम
लूटपाट के लिए उन्होंने कार को किराए पर लिया था। साथ ही उन्होंने कई अन्य लोगों को टारगेट किया था, लेकिन मामला चर्चा में आने के बाद उन्होंने किसी से मुलाकात नहीं की। पुलिस की मानें तो पूछताछ में दोनों ने वारदात के पीछे कोई ठोस कारण नहीं बताया है।

विदेशी और इंडियन क्राइम वेब सीरीज देखते थे आरोपी
रुपये की दोनों को ऐसी किल्लत नहीं थी कि लूट की वारदात करनी पड़े। उन्होंने बताया है कि विदेशी और इंडिया क्राइम वेब सीरीज वह देखते हैं। इसे प्रभावित होकर उन्होंने इस वारदात की प्लानिंग की। उन्हें उम्मीद थी कि पुलिस उन तक नहीं पहुंच पाएगी। साभार-नवभारत टाइम्सआपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स मेंलिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!