Monday, November 29, 2021
अपराधएनसीआरख़बरें राज्यों सेताजा खबरनागरिक मुद्दे

शहर की सड़क पर कुछ दिनों बाद दिखेंगे स्मार्ट पोल, जानिए इनकी खासियतें, कैसे करेंगे पुलिस की मदद…दैनिक जागरण

पढ़िये दैनिक जागरण की ये विशेष खबर 

शहर की सड़क पर कुछ दिनों बाद दिखेंगे स्मार्ट पोल, जानिए इनकी खासियतें, कैसे करेंगे पुलिस की मदद

अब कोई अपराधी पुलिस से बच नहीं जाएगा। अपराधियों की पोल खोलने के लिए जिले में स्मार्ट पोल लगाए जाएंगे। एक सप्ताह बाद पहला स्मार्ट पोल एएलटीटीसी गेट के पास लगाने का काम शुरू होगा। इस पोल पर लगा रोटरी सर्विलांस कैमरा 360 डिग्री एंगल पर काम करेगा।

गाजियाबाद, हसीन शाह। अब कोई अपराधी पुलिस से बच नहीं जाएगा। अपराधियों की पोल खोलने के लिए जिले में स्मार्ट पोल लगाए जाएंगे। एक सप्ताह बाद पहला स्मार्ट पोल एएलटीटीसी गेट के पास लगाने का काम शुरू होगा। इस पोल पर लगा रोटरी सर्विलांस कैमरा 360 डिग्री एंगल पर काम करेगा, जो 500 मीटर के दायरे में छोटी से छोटी वस्तु को साफ दिखा देगाा। पुलिस अपराधियों को पकड़ने में इस पोल से काफी मदद मिलेगी। जिले में इस प्रकार के अलग-अलग स्थानों पर 10 से 12 पोल लगाए जाने हैं।

मिलेगी रेडिएशन व मौसम की जानकारी

इस पोल से वायु प्रदूषण, मौसम व रेडिएशन की जानकारी मिलेगी। इसमें पर्यावरण युक्त सेंसर लगे हुए होंगे। यह पोल शहर के प्रमुख इलाकों में कमजोर सिग्नल की समस्या को दूर करने में मददगार होगा। जिले में मौसम विभाग का दफ्तर नहीं है। ऐसे में मौसम की जानकारी करने के लिए किसान और आम लोगों को कृषि विभाग पर निर्भर रहना पड़ता है। बीएसएनएल देशभर के 35 शहरों में नोकिया कंपनी की मदद से पोल लगा रहा है। इनमें गाजियाबाद भी शामिल है। गाजीपुर में पांच पोल लगाकर पहले इसका ट्रायल किया गया था। ट्रायल सफल रहने पर पोल लगाने का निर्णय लिया गया। इस पोल की लंबाई 12 से 15 मीटर होगी। यह पोल अहमदाबाद स्थित डाटा सेंटर से कनेक्ट रहेगा। इसमें लगा सेंसर आपदा के बारे में भी बता सकेगा।

360 डिग्री पर घूमेगा कैमरा

पोल में सर्विलांस कैमरा लगा होगा, जो 360 डिग्री पर काम करेगा। कैमरा से 500 मीटर दूर की छोटी-छोटी वस्तु रिकॉर्ड किया जा सकता है। इससे अपराधियों को पकड़ने में भी मदद मिलगी। भारत में 5-जी की तैयारी चल रही है। ऐसे में रेडिएशन पर नजर रखना अहम है। हालांकि रेडिएशन पर खुद दूर संचार कंपनी नजर रखती हैं। लेकिन फिर भी सतर्कता के लिए इस पोल से रेडिएशन पर नजर रखकर उसे नियंत्रित किया जाएगा।

पांच किलोमीटर के दायरे में करेगा काम

अफसरों के अनुसार यह पोल पांच किलोमीटर के दायरे में होने वाले मौसम व रेडिएशन के बदलाव के बारे में बताएगा। इसमें एलईडी लाइट लगी होगी, जो अंधेरा होने पर खुद ही जल जाएगी। एलईडी से एलएलटी परिसर में प्रकाश रहेगा। पोल का संचालन एएलटीटीसी द्वारा ही किया जाएगा।

मिलेंगी ये सुविधाएं

– पर्यावरण सेंसर : यह वायु प्रदूषण, आद्रता और तापमान की जानकारी देगा।

– स्मार्ट लाइट : पोल स्वचलित होगा। कम प्रकाश होने पर खुद लाइट जल जाएगी।

– रोटरी सर्विलांस कैमरा : इसका कैमरा 360 डिग्री पर घूम सकता है।

– रोटरी सर्विलांस कैमरा : कैमरे की गुणवत्ता बहुत अच्छी है।

– वाई-फाई: पोल से क्षेत्र में वाई-फाई हॉट-स्पॉट की सुविधा मिलेगी।

– स्मार्ट पोल प्रबंधन साफ्टवेयर : इसको एएलटीटीसी से सॉफ्टवेयर के जरिये कंट्रोल किया जाएगा।

गाजियाबाद में पहली स्मार्ट पोल लगने जा रहा है। बीएसएनएल इसे नोकिया कंपनी के सहयोग से लगाया जा रहा है। इससे मौसम व रेडिएशन की जानकारी और वाई-फाई, स्मार्ट लाइट, रोटरी सर्विलांस कैमरा सहित अन्य की सुविधा मिलेंगी।

-मोहन सिंह, महाप्रबंधक (तकनीकी), एएलटीटीसी

साभार दैनिक जागरण 

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स मेंलिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!