अपराधएनसीआरख़बरें राज्यों सेनागरिक मुद्देराष्ट्रीयविशेष रिपोर्ट

Munawwar Rana News:’मुनव्वर राना के बेटे तबरेज ने ही लिखी थी खुद पर फायरिंग की स्क्रिप्ट’, रायबरेली पुलिस ने बताया पूरा प्लान

पढ़िए  नवभारत टाइम्स की ये खबर…

Munawwar Rana Son शायर मुनव्वर राना (Poet Munawwar Rana) के बेटे तबरेज राना (Tabrej Rana) पर रायबरेली में एक पेट्रोल पंप के पास फायरिंग हुई थी। पुलिस (Raebareli Police) की जांच में सामने आया है कि तबरेज ने ही खुद पर हमले की साजिश रची थी।

हाइलाइट्स:

  • शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज राना पर रायबरेली में हुई थी फायरिंग
  • पुलिस की जांच में पता चला कि तबरेज ने ही रची थी हमले की साजिश
  • रायबरेली पुलिस ने 4 को किया गिरफ्तार, बाइक और असलहा बरामद
  • सगे भाई की संपत्ति हड़पने और चुनाव लड़ने के लिए साजिश का शक

माधव सिंह, रायबरेली
मशहूर शायर मुनव्वर राना के बेटे पर हमले के मामले में नया मोड़ आ गया है। रायबरेली जिले के त्रिपुला चौराहे के पास मुनव्वर के बेटे तबरेज राना की कार पर बाइक सवार दो नकाबपोशों ने फायरिंग की थी। घटना 28 जून की थी। इस मामले में चार आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। रायबरेली के एसपी श्लोक कुमार ने मीडिया को बताया कि अपने चाचा से चल रहे संपत्ति विवाद में फंसाने के लिए मुनव्वर राना के बेटे ने खुद पर गोली चलवाने की प्लानिंग की थी। फिलहाल मुनव्वर का बेटा तबरेज फरार है और उसकी तलाश में पुलिस की टीमें छापेमारी कर रही हैं।

पेट्रोल पंप के पास फायरिंग, 4 गिरफ्तार
आरोपियों के पास से वारदात में इस्तेमाल बाइक, असलहे और मोबाइल जब्त किए गए हैं। पुलिस ने हलीम, सुल्तान, सत्येंद्र और शुभम नाम के चार युवकों को गिरफ्तार किया है। सत्येंद्र और शुभम ने 28 जून की शाम को त्रिपुला चौराहे के पास पेट्रोल पंप से बाहर निकल रही एक कार पर फायरिंग की थी। इसके बाद बाइक सवार दोनों आरोपी मौके से फरार हो गए। यह कार शायर मुनव्वर राना के पुत्र तबरेज राना की थी। फायरिंग के वक्त तबरेज कार में मौजूद थे। गोली चलने की सूचना उन्होंने तत्काल पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू की। तबरेज ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों पर हमले का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी। इस बीच लखनऊ में डीजीपी मुकुल गोयल से मुलाकात के लिए मुनव्वर राना की दो बेटियों सिग्नेचर बिल्डिंग पहुंचीं। रायबरेली पुलिस की शिकायत लेकर दोनों वहां पहुंचीं लेकिन डीजीपी से मुलाकात नहीं हो सकी है।

तबरेज राना का ये था प्लान?
मामला हाई प्रोफाइल होने की वजह से पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली पुलिस के साथ ही एसओजी को इसका जल्द खुलासा करने के निर्देश दिए। दोनों टीमों ने सीसीटीवी फुटेज और जिले के अपराधियों से पूछताछ की तो शक की सुई तबरेज की ओर घूम गई। इसके बाद पुलिस ने 4 युवकों को गिरफ्तार कर लिया। जब उनसे कड़ाई से पूछताछ की गई तो पूरी साजिश का पर्दाफाश हो गया। आरोपियों ने बताया कि तबरेज ने ही अपने चाचा और उनके बेटों को फंसाने, मीडिया कवरेज और सरकारी सुरक्षा पाने के लिए प्लान बनाया था। बताया जा रहा है कि सगे भाई को फंसाकर संपत्ति हड़पने और चुनाव लड़ने के लिए मुनव्वर राना के परिवार ने पूरी साजिश रची थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से अवैध असलहे और घटना में इस्तेमाल बाइक बरामद कर ली है।

छोटे भाई बोले- ‘मुनव्वर का दोष नहीं’
मुनव्वर राना के छोटे भाई शकील राना ने बताया कि यह पूरा मामला पहले ही गलत था। जबरदस्ती हम लोगों को फंसाया गया था। ऊपरवाले की कृपा थी कि हम लोग निर्दोष पाए गए। इसमें बड़े भाई मुनव्वर राना का कोई दोष नहीं है। जमीन और पैसे को लेकर किसी ने तबरेज राना को बहकाया होगा।

शकील राना का कहना है, ‘ऐसा प्रतीत होता है कि चूंकि मुनव्वर राना का दिमाग थोड़ा काम नहीं करता है। कभी-कभी भूलने की आदत भी है। उनके एक बेटा और पांच बेटियां हैं। उनकी बेटियों ने अब सरकार पर आरोप लगाया है कि शाहीन बाग वाले मामले में हम लोगों ने विरोध किया था, इसलिए सरकार इसका बदला ले रही है।’

‘जमीन और पैसे का था पूरा मामला’
शकील ने बताया कि उनके बड़े भाई मुनव्वर राना ने पूरी ताकत अपने बेटे के हाथ में दे दी थी। इसलिए यह भी एक गलत मैसेज गया। कुल मिलाकर पूरा मामला जमीन और पैसे का था। पैसा कुछ उन्होंने उड़ा दिया था। तबरेज आगे राजनीति में कदम रखने के फिराक में थे। साभार-नवभारत टाइम्स

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *