Thursday, December 2, 2021
एनसीआरख़बरें राज्यों सेताजा खबरनियुक्तियाँराष्ट्रीयविशेष रिपोर्टशाबाश इंडिया

Justice NV Ramana होंगे देश के 48वें चीफ जस्टिस, 24 अप्रैल से संभालेंगे पद

पढ़िए जी बिज़नेस हिंदी की ये खबर…

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने Justice NV Ramana को देश का नया चीफ जस्टिस के नाम पर मोहर लगा दी है. Justice NV Ramana देश के 48th चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बनेंगे.  24 अप्रैल से Justice NV Ramana टेके ओवर करेंगे.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने Justice NV Ramana को देश का नया चीफ जस्टिस के नाम पर मोहर लगा दी है. Justice NV Ramana देश के 48th चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बनेंगे.  24 अप्रैल से Justice NV Ramana टेके ओवर करेंगे.  देश के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश जस्टिस शरद अरविंद बोबडे 23 अप्रैल को रिटायर हो रहे हैं.  CJI शरद बोबडे ने ही Justice NV Ramana को रेकोमेनड किया था.

Justice NV Ramana का कार्यकाल 2022 होगा (Justice NV Ramana’s term will be 2022)
आपको बता दें कि 45 साल से ज्यादा के न्यायिक अनुभव ( judicial experience) रखने वाले और संवैधानिक मामलों के जानकार एनवी रमना का कार्यकाल 26 अगस्त 2022 तक का होगा. आपको बता दें कि एनवी रमन्ना 27 जून 2000 को आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट (Andhra Pradesh High Court ) के स्थायी जज के रूप में नियुक्त किए गए थे. इसके बाद उन्होंने 10 मार्च 2013 से 20 मई 2013 तक आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में काम किया था.

आंध्र प्रदेश से वकील के तौर पर शुरुआत की थी (Started as a lawyer from Andhra Pradesh)
आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh ) के रहने वाले एन.वी रमना वर्ष 2000 में आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट में स्थायी जज के तौर पर चुने गए थे. फरवरी, 2014 में सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर नियुक्ति से पहले वह दिल्ली हाई कोर्ट में थे. 63 वर्षीय नुथालपति वेंकट रमना ने 10 फरवरी, 1983 से अपने न्यायिक करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने आंध्र प्रदेश से वकील के तौर पर शुरुआत की थी.

इन मामलों के हैं जानकार 
उन्होंने आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट, आंध्र प्रदेश एडमिनिस्ट्रेटिव ट्राइब्यूनल के अलावा सुप्रीम कोर्ट में भी वकालत की थी. उन्होंने संवैधानिक, आपराधिक और इंटर-स्टेट नदी जल बंटवारे के कानूनों का खास जानकार माना जाता है. करीब 45 साल का लंबा अनुभव रखने वाले एनवी रमना सुप्रीम कोर्ट के कई अहम फैसले सुनाने वाली संवैधानिक बेंच का हिस्सा रहे हैं. साभार-जी बिज़नेस हिंदी

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

error: Content is protected !!