Sunday, November 28, 2021
अपराधताजा खबरमेरा गाज़ियाबाद

कमरे में मृत मिला 14 वर्षीय बेटा, बेहोश मिला परिवार

मुरादनगर। श्मशान घाट में छत गिरने से 24 लोगों की मौत के बाद उखलासी बृहस्पतिवार को एक बार फिर चर्चा में आ गया। यहां रहने वाले रामपाल का 14 वर्षीय बेटा कुनाल कमरे में मृत मिला, जबकि पूरा परिवार बेहोश मिला। सुबह पड़ोसियों ने रामपाल, उनकी पत्नी अनीता व बेटी शगुन (9) को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी हालत स्थिर बनी है। बुधवार रात ढाबे से लाया गया साग खाने के बाद परिवार कमरे में अंगीठी लगाकर सो गया था। घटना फूड प्वाइजनिंग से हुई या अंगीठी की गैस से हादसा हुआ, पुलिस इसकी जांच में जुट गई है। पुलिस ने कुनाल के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने होटल से साग केनमूने जांच को भेजे हैं।

उखलारसी में रामपाल पत्नी, बेटा व बेटी के साथ रहते हैं। बेटा कुनाल नौवीं में पढ़ता था, जबकि बेटी शगुन चौथी कक्षा में पढ़ती है। रामपाल तीन साल पहले पेट्रोल पंप पर काम करते थे, लेकिन काफी समय से वह घर पर ही हैं। रामपाल के मुताबिक, बुधवार शाम करीब साढ़े पांच बजे वह रेलवे रोड स्थित होटल से पत्नी व बेटा के साथ साग लेकर आए थे। रात करीब साढ़े 9 बजे खाना खाने के बाद परिवार के सभी सदस्यों को बेचैनी होने लगी, लेकिन उन्होंने नजरअंदाज कर दिया। कुनाल ने चक्कर आने की बात कही तो पिता ने कमरे में जाकर सोने के लिए कह दिया। इसके बाद परिवार के अन्य लोग भी सो गए।

रामपाल ने बताया कि बृहस्पतिवार तड़के बेचैनी बढ़ने पर वह उठे तो पत्नी व बेटी बेहोश थे, जबकि बेटा कमरे में मृत पड़ा था। रामपाल की चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी भी आ गए। उन्होंने रामपाल व उनकी पत्नी-बेटी को अस्पताल में भर्ती कराया। मुरादनगर एसएचओ अमित कुमार का कहना है कि सुबह करीब सवा नौ बजे सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची। फोरेंसिक टीम ने भी जांच-पड़ताल की। मृतक कुनाल का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। प्रारंभिक जांच के लिए होटल मालिक को हिरासत में लिया गया है।

कोयले की गैस से दम घुटने का अंदेशा
एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा ने बताया कि सूचना मिलने पर उन्होंने सीओ सदर कमलेश पांडेय और एसएचओ के साथ मौके पर पहुंच जांच की। परिवार के सभी सदस्य एक ही कमरे में सोए थे। रामपाल के छोटे से घर में कोई रोशनदान नहीं है। सर्दी के कारण बुधवार रात को परिवार बिना रोशनदान वाले कमरे में अंगीठी जलाकर सोया था। पुलिस को अंदेशा है कि कोयले से निकली कार्बन मोनोऑक्साइड गैस से दम घुटा है।

दमा से पीड़ित हैं पति-पत्नी और बेटा
रामपाल उनकी पत्नी व बेटा दमा रोग से पीड़ित हैं। फोरेंसिक टीम को अनीता और कुनाल के नाम के दवाइयों के पर्चे मिले हैं। पूछताछ में भी परिजनों ने बताया कि उन्हें पहले से ही सांस लेने में दिक्कत थी। एसपी ग्रामीण के मुताबिक, कुनाल का दिल्ली के अस्पताल से उपचार चल रहा था। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

फूड प्वाइजनिंग का अंदेशा कम : एसपी ग्रामीण
एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा का कहना है कि कुनाल के मुंह से झाग के साथ खून भी आया, लेकिन परिवार के अन्य सदस्य को उल्टी नहीं हुई। साथ ही जिस होटल से साग लाया गया, वहां कई लोगों ने उसे खाया था। किसी अन्य व्यक्ति की तबीयत खराब होने की सूचना भी प्राप्त नहीं हुई। ऐसे में फूड प्वाइजिंनग होने का अंदेशा कम है। किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए होटल से साग के सैंपल भी लिए गए हैं। घटना के संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है। साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

Leave a Reply

error: Content is protected !!