Friday, December 3, 2021
एनसीआरताजा खबर

गाजियाबाद, रैपिड रेल डिपो के लिए मिली 50 फीसदी जमीन

गाजियाबाद। दिल्ली के सराय कालेखां से गाजियाबाद और मेरठ तक प्रस्तावित रैपिड रेल कॉरिडोर की बड़ी बाधा दूर हो गई है। किसानों से कई दौर की बातचीत के बाद एनसीआरटीसी रैपिड के डिपो के लिए दुहाई में 50 फीसदी जमीन मिल गई है। डिपो के लिए एनसीआरटीसी को भिक्कनपुर गांव, बसंतपुर सैंथली और दुहाई में कुल 51 हेक्टेयर जमीन की जरूरत है। अब एनसीआरटीसी को करीब 26 हेक्टेयर जमीन मिल गई। किसानों से इस जमीन की रजिस्ट्री की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है।

डिपो की बाकी जमीन हासिल करने के लिए एनसीआरटीसी का काम जारी है। फरवरी के आखिर तक बाकी जमीन भी मिल जाएगी। जमीन मिलने के साथ ही एनसीआरटीसी ने डिपो के निर्माण की कवायद शुरू कर दी है। डिपो के लिए निर्माण एजेंसी को काम अवार्ड किया जा चुका है। जमीन मिलने के साथ ही 17 किलोमीटर लंबे पहले प्राथमिकता वाले खंड में निर्माण कार्य और गति पकड़ेगा। साहिबाबाद से दुहाई तक पहले प्राथमिकता वाले खंड में 30 फीसदी निर्माण संबंधी काम पूरा हो चुका है।
एक किमी एलिवेटेड ट्रैक बनकर तैयार, पटरी बिछना बाकी

रैपिड के प्राथमिकता वाले खंड में साहिबाबाद से मेरठ रोड व मेरठ रोड से दुहाई तक दोनों भागों में आधा-आधा किमी मिलाकर कुल 1 किमी का एलिवेटेड ट्रैक (वायडक्ट) का निर्माण पूरा किया जा चुका है। केवल इस पर रैपिड की पटरी बिछना बाकी है। एलिवेटेड ट्रैक तैयार करने के लिए और वसुंधरा कास्टिंग यार्ड में गार्डर को एलिवेटेड ट्रैक पर लाँच करने के लिए प्राथमिकता वाले खंड में आठ लॉंचिंग गैंट्री मशीनों को लगाया गया है। आने वाले दिनों में पूरी क्षमता से कार्य शुरू होने पर हर माह 1.50 किमी एलिवेटेड ट्रैक (वायडक्ट) का निर्माण किया जाएगा।

एलिवेटेड ट्रैक के काम की 24 घंटे निगरानी
रैपिड रेल कॉरिडोर के हर निर्माण कार्य की 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। दिल्ली-मेरठ हाईवे पर भारी यातायात के बीच एलिवेटेड ट्रैक (वायडक्ट) के निर्माण को देखते हुए बेहद सावधानी से काम किया जा रहा है। एलिवेटेड ट्रैक पर गार्डर लांच करने के लिए आठ लांचिंग गैंट्री मशीन काम कर रही है। हर एक मशीन पर तीन सीसीटीवी से एनसीआरटीसी एमडी के साथ अन्य आला अधिकारियों की ओर से निगरानी रखी जा रही है।

कोट…..
साहिबाबाद से दुहाई के बीच के 17 किमी लंबे ट्रैक पर रैपिड ट्रेन 2023 में चलाने की तैयारी है। दुहाई में जमीन मिलने के साथ ही एनसीआरटीसी ने यहाँ डिपो निर्माण की प्रक्रिया आगे बढ़ा दी है।
पुनीत वत्स, मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी, एनसीआरटीसी-साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

 

Leave a Reply

error: Content is protected !!