Saturday, December 4, 2021
एनसीआरताजा खबर

किसान आंदोलन: जानिए दिल्ली-एनसीआर के कौन से रास्ते हैं बंद और कहां हुआ डायवर्जन

दिल्ली एनसीआर में बीते पांच दिनों से कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के कारण यातायात बुरी तरह प्रभावित है। जिन बॉर्डरों पर लोग दिन भर में कई बार आना-जाना करते थे उन्हें बमुश्किल पार कर पा रहे हैं। ऐसे में यदि आप भी आने-जाने की योजना बना रहे हैं तो यह खबर आपके लिए भी बेहद जरूरी है। यात्रियों की परेशानियों को देखते हुए दिल्ली में कई जगह रूट डायवर्जन किए गए हैं।

टिकरी बॉर्डर पर आवाजाही ठप
यातायात पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार टिकरी बॉर्डर पर फिलहाल आवाजाही पूरी तरह से बंद है। जिन लोगों को दिल्ली से हरियाणा जाना है वे झरोड़ा, धांसा, दौराला झाटीकेरा, बडुसारी, कापाशेरा, राजोकरी एनएच 8, बिजवासन/बजघेरा, पालम विहार और दुंडाहेरा बॉर्डर के रास्ते से जा सकते हैं।

गाजियाबाद बॉर्डर पर नहीं है डायवर्जन
वहीं, दिल्ली गाजियाबाद बॉर्डर पर अभी कोई डायवर्जन नहीं किया गया है। वाहनों को महाराजपुर बॉर्डर से दिल्ली भेजा जा रहा है। एनएच 9 से यूपी गेट फ्लाईओवर के ऊपर से वाहनों को दिल्ली भेजा जा रहा है। फ्लाईओवर के नीचे किसी भी वाहन को नहीं आने दिया जा रहा।

सिंघु बॉर्डर आज भी रहेगा बंद
यातायात पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि सिंघु बॉर्डर आज भी बंद रहेगा। लोगों को अन्य रास्ता लेकर अपने गंतव्य तक पहुंचने की सलाह दी गई है। मुकर्बा चौक से रूट डायवर्ट किया गया है। सिग्नेचर ब्रिज से रोहिणी जाने वाले रास्ते पर न जाएं।

इसके साथ ही दिल्ली एनसीआर में मेट्रो सेवाएं पूरी तरह सामान्य हैं। मेट्रो अन्य दिनों की तरह ही अपने रूट पर सामान्य रूप से चल रही हैं।

मालूम हो कि किसानों के 30 से अधिक संगठनों की रविवार को हुई बैठक में किसानों के बुराड़ी मैदान पहुंचने पर तीन दिसंबर की तय तारीख से पहले वार्ता की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की पेशकश पर बातचीत की गई, लेकिन हजारों प्रदर्शनकारियों ने इस प्रस्ताव को स्वीकारने से मना कर दिया और सर्दी में एक और रात सिंघु व टीकरी बार्डरों पर डटे रहने की बात कही।

उनके प्रतिनिधियों ने कहा था कि उन्हें शाह की यह शर्त स्वीकार नहीं है कि वे प्रदर्शन स्थल बदल दें। उन्होंने दावा किया कि बुराड़ी मैदान एक खुली जेल है।

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने शनिवार को 32 किसान संगठनों को भेजे गए पत्र में ठंड के मौसम और कोविड-19 की परिस्थितियों का हवाला देते हुए कहा था कि किसानों को बुराड़ी मैदान जाना चाहिए, जहां उनके लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं।साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

 

Leave a Reply

error: Content is protected !!