अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

चंद्रयान 2: लैंडर विक्रम को जगाने में जुटा नासा, मैसेज के जरिये बना रहा संपर्क

नई दिल्ली। चंद्रयान-2 मिशन अभी खत्म नहीं हुआ है। इसरो के वैज्ञानिकों ने लैंडर विक्रम को जिंदा करने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। अब इस अभियान में दुनिया का सबसे बड़ा स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन नासा (NASA) भी जुट गया है। अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक लैंडर विक्रम को नासा भी मैसेज भेज रहा है। लेकिन अभी तक ये कम्युनिकेशन एकतरफा रहा है। यानी लैंडर विक्रम की तरफ से कोई जवाब नहीं मिल रहा है।

नासा की जेट प्रॉपलशन लैबोरेट्री ने लैंडर विक्रम से संपर्क साधने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी भेजी है। नासा ये काम डीप स्पेस नेटवर्क के जरिए कर रहा है। अमेरिका के एक एस्ट्रॉनॉट स्कॉट टिले ने भी इस बात की पुष्टि की है कि नासा ने कैलिफोर्निया स्थित स्टेशन से लैंडर विक्रम को रेडियो फ्रीक्वेंसी भेजी हैं। उन्होंने सिग्नल को रिकॉर्ड कर ट्वीटर पर भी साझा किया है।

बता दें कि पिछले दिनों भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के चंद्रयान-2 मिशन की नासा ने तारीफ की थी। नासा ने अपने ट्वीट में लिखा था कि ”अंतरिक्ष में शोध करना मुश्किल काम है। हम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर इसरो के चंद्रयान-2 मिशन को उतारने के प्रयास की सराहना करते हैं।”

वहीं इस मिशन को पूरा करने के लिए वैज्ञानिकों के  पास सिर्फ 9 दिनों का समय और बचा है। 21 सितंबर तक ही वे लैंडर विक्रम से संपर्क साधने की कोशिश कर सकते हैं। इसके बाद लूनर नाइट की शुरुआत हो जाएगी। जहां हालात बिल्कुल बदल जाएंगे। 14 दिन तक ही विक्रम को सूरज की रोशनी मिलेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *