ताज़ा खबर :
prev next

तमिलनाडु के स्वर्ण मंदिर को बनाने में, लगा है इतना सोना जानिए..

तमिलनाडु के स्वर्ण मंदिर को बनाने में, लगा है इतना सोना जानिए..

नई दिल्ली भारत मंदिरों का देश है, यहां हिंदुओं से जुड़े एक से एक मंदिर अपनी भव्यता के लिए पूरे विश्व में विख्यात हैं, लेकिन क्या कभी ऐसे मंदिर के बारे में भी सुना है, जिसमें 1500 किलो से ज्यादा सोना मंदिर की दीवारों और गर्भगृह के गुम्बद पर लगा हुआ है ये मंदिर है दक्षिण भारत के वैल्लोर में है जिसको श्री लक्ष्मी नारायणी मंदिर के नाम से जाना जाता है इस मंदिर को एक युवा सन्यासी ने बनवाया है जिनका नाम नारायणी अम्मा है

यह मंदिर तमिलनाडु के वेल्लोर शहर के दक्षिणी में स्थित है इस मंदिर के निर्माण में 1500 किलोग्राम सोने का प्रयोग किया गया है मंदिर के साथ ही मां महालक्ष्मी की मूर्ति भी 70 किलो ठोस सोने से बनी है। जानकारी के मुताबिक, इस मंदिर को बनने में कुल 7 वर्षों का समय लगा मंदिर का निर्माण कार्य साल 2007 में पूरा हुआ इसके निर्माण में लगभग 300 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि लगी यह मंदिर 100 एकड़ से ज्यादा में फैला हुआ है। मंदिर परिसर में देश की सभी प्रमुख नदियों से पानी लाकर एक ‘सर्व तीर्थम सरोवर’ नाम का कुंड बनाया गया है

मंदिर परिसर में लगभग 27 फीट ऊंची एक दीपमाला भी है। जिसे जलाने पर सोने से बना मंदिर चमकने लगता है मंदिर की सुरक्षा में 24 घंटे पुलिस और सिक्योरिटी का पहरा रहता है। यहां पर हवाई मार्ग से जाने के लिए पहले चेन्नई हवाई अड्डे और फिर रेल मार्ग से जाने के लिए वेल्लोर छावनी के लिए टिकट लेकर जाया जा सकता है। यह मंदिर वेल्लोर शहर रेलवे स्टेशन के पास है। 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।