ताज़ा खबर :
prev next

जीडीए के दो ठेकेदार हुए ब्लैकलिस्टेड, तीन को मिला नोटिस

जीडीए के दो ठेकेदार हुए ब्लैकलिस्टेड, तीन को मिला नोटिस

गाज़ियाबाद। जीडीए के उद्यान विभाग में काम करने वाले दो ठेकेदारों की फर्म को ब्लैकलिस्टेड कर दिया गया है। जबकि तीन फर्मों को ब्लैकलिस्ट किए जाने का चेतावनी पत्र जारी किया गया है। उन पर आरोप है कि जीडीए की तरफ से अलॉट किए गए काम को सही तरीके से किया नहीं जा रहा है। इसकी वजह से ब्लैकलिस्ट की कार्रवाई की गई है।

उद्यान विभाग के अधिकारी गोविंद सिंह ने बताया कि इंदिरापुरम में राउंड अबाउट का काम करने वाली भारत किसान नर्सरी और वैशाली में काम करने वाली शिवा कंस्ट्रक्शन कंपनी को ब्लैकलिस्ट किया गया है। इसके अलावा नंदनी शोभाकार नर्सरी, एएस कंस्ट्रक्शन और साईं नर्सरी एंड फॉर्म को ब्लैकलिस्ट किए जाने के लिए नोटिस भेजा गया है। सात दिन के भीतर जवाब देना होगा। इस जवाब के बाद ब्लैकलिस्ट किए जाने की कार्रवाई की जाएगी।

जीडीए वीसी रितु माहेश्वरी उद्यान विभाग के कार्यों से संतुष्ट नहीं हैं। इसी वजह से इस अनुभाग के कार्यों की लगातार समीक्षा कर रही हैं। उन्होंने उद्यान विभाग के कार्यों की जांच करके रिपोर्ट देने के लिए एसडीएम प्रशांत को निर्देश दिया था। एसडीएम प्रशांत ने अपनी जांच में इन ठेकेदारों के काम में कई कमियां पाईं हैं। जिसके एवज में उन्हें ब्लैकलिस्ट किए जाने की कार्रवाई की गई है।

खास बात है कि पार्कों और ग्रीन बेल्ट के रखरखाव के लिए जीडीए लाखों रुपए खर्च करता है लेकिन उसके बाद भी सही तरीके से रखरखाव नहीं होने का खुलासा एसडीएम प्रशांत तिवारी की जांच में सामने आया। मधुबन बापूधाम के तीन पार्कों के रखरखाव पर छह लाख रुपए से अधिक का काम जनवरी में मेसर्स एएस कंस्ट्रक्शन को दिया गया था। लेकिन काम ठीक नहीं होने इस पर भी ब्लैकलिस्टेड की कार्रवाई शुरू हो चुकी है।

वहीं तुलसी निकेतन के तीन पार्क के रखरखाव पर 12 लाख रुपए का काम साईं नर्सरी एंड फॉर्म को 2017 में दिया गया था। लेकिन जांच में तीन पार्कों की हालत काफी खराब मिली। इस पर भी कार्रवाई शुरू हो चुकी है। नंदनी शोभाकार नर्सरी को करीब साढ़े चार लाख रुपए के कोयल इंक्लेव के तीन पार्क के रखरखाव का काम सौंपा गया था। पार्कों की स्थिति दयनीय मिली। ब्लैकलिस्ट की कार्रवाई शुरू हो चुकी है।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।